hindi

अगर ये गलती ना करते तो IPL नीलामी में मिलते दो करोड़, दीपक चाहर के पिता का बड़ा बयान

0 9

श्रीलंका के विरुद्ध वनडे सीरीज के दूसरे मुकाबले में दीपक चाहर ने शानदार बल्लेबाजी की. दीपक चाहर ने 2 विकेट लेने के अलावा 69 रन की नाबाद पारी भी खेली. दीपक चाहर ने खुद को हमेशा एक ऑलराउंडर माना है. लेकिन एक समय ऐसा भी आया था, जब उन्हें खुद को हरफनमौला खिलाड़ी कहने पर पछतावा हुआ था.

2018 की आईपीएल नीलामी में दीपक चाहर को चेन्नई सुपर किंग्स ने 80 लाख रुपए में खरीदा था. लेकिन उनके भाई राहुल चाहर को मुंबई इंडियंस ने 1.9 करोड़ रुपए में खरीदा था. दीपक चाहर के पिता लोकेंद्र चाहर ने इस नीलामी को याद करते हुए कहा- हमारी यही गलती थी. दीपक ने ऑलराउंडर के तौर पर फॉर्म भरा था. ऑलराउंडर कैटेगरी में खिलाड़ियों की नीलामी उसी दिन देर से हुई. राहुल गेंदबाज थे. नीलामी में राहुल का नाम जल्दी आया. दीपक का नाम बाद में आया. जब तक दीपक का नाम पुकारा गया, तब तक टीमों का पैसा खत्म हो गया था. नहीं तो उन्हें दो करोड़ से ज्यादा मिल जाते.

बता दें कि दीपक चाहर और राहुल चाहर को शुरुआती दिनों में उनके पिता लोकेंद्र चाहर ने ही क्रिकेट की बारीकियां सिखाई. दीपक चाहर का रिकॉर्ड बल्लेबाज के रूप में काफी शानदार है. उन्होंने आईपीएल में सीएसके के लिए कई बेहतरीन पारियां खेली हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.