hindi

आखिरी ओवर में जीत के लिए टीम को चाहिए थे 35 रन, बल्लेबाज ने 6 गेंदों पर 6 छक्के लगाकर दिलाई जीत

0 11

अगर किसी टीम को अंतिम ओवर में जीत के लिए 35 रन चाहिए होते हैं तो सब मान लेते हैं कि अब तो गेंदबाजी करने वाली टीम जीत जाएगी. लेकिन क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है. क्रिकेट के खेल में कब पांसा पलट जाए, कोई नहीं जानता. ऐसा ही नजारा स्टील्स टी-20 टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में देखने को मिला.

फाइनल मुकाबले में नॉर्थर्न आयरिश क्लब के बल्लेबाज जॉन ग्लास ने आखिरी ओवर में 6 गेंदों में 6 छक्के लगाकर अपनी टीम को जीत दिला दी. क्रेगाघो के खिलाफ फाइनल मैच में बालीमेना क्लब को जीत के लिए आखिरी ओवर में 35 रन बनाने थे. जॉन ग्लास 51 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद थे. किसी को भी जीत की उम्मीद नहीं थी. लेकिन कप्तान जॉन ग्लास ने चमत्कारी पारी खेली. आखिरी ओवर की हर गेंद पर जॉन ग्लास ने छक्का जड़ा और वह कमाल कर दिखाया, जो क्रिकेट इतिहास में बहुत कम ही बार देखने को मिला है.

अंतिम ओवर में जॉन ग्लास ने 36 रन बटोरे और अपनी टीम को खिताब जिता दिया. वह 87 रन बनाकर नाबाद रहे. क्रेगाघो ने इस मुकाबले में पहले बल्लेबाजी करते हुए 7 विकेट के नुकसान पर 143 रन बनाए थे. बालीमेना की टीम 113 रन पर 7 विकेट गंवा चुकी थी. टीम की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही थी. 19 ओवर खत्म हो चुके थे. लेकिन अंतिम ओवर में कप्तान के छह छक्कों की बदौलत टीम जीत गई.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.