hindi

दुनिया में गाय को गले लगाने के बढ़ रहा है ट्रेंड,इसके पीछे हैरान करने वाली है वजह

0 8

बकरियों के बीच योग से लेकर घंटियों की आवाज में सोने तक सेहत की दुनिया में नया ट्रेंड आ रहे हैं। उसका मकसद है मन की शांति हासिल करना। और नीदरलैंड भी अपना ख्याल रखने के लिए परंपरा को दुनिया के सामने ला रहा है। आपको बता दें कि वहां पर एक नया ट्रेंड बन रहा है। स्थानीय भाषा में इसे ‘काऊ नफलेन’ कहते हैं जिसका मतलब है गायों को गले लगाना।

ये परंपरा गायों से सटकर बैठने के दौरान मिलने वाली मन की शांति पर आधारित है गाय को गले लगाने वाले किसी भी गोशाला का दौरा करते हैं और किसी एक गाय के साथ कई घंटे सटकर बैठते हैं।

हालांकि यह भी तरीके की थेरेपी है गाय की पीठ थपथपाना उसके साथ सेटकर बैठना उसे गले लगाना यह सब एक थेरेपी है। अगर पलटकर आपको चाटती है तो वो बताती है कि आपके और उसके बीच विश्वास कितना गहरा है। गाय के शरीर का गर्म तापमान, धीमी धड़कनें और बड़ा आकार उन्हें सटकर बैठने वालों को शांति का अहसास देता है। इसके साथ ही यह सुखदायक अनुभव होता है जिससे गाय को भी सुकून मिलता है।

नीदरलैंड में गायों के एक फार्म की मालिक कहती हैं कि गाय आमतौर पर बेहद शांत होती है वह बेवजह किसी से नहीं लड़ती है किसी को परेशान नहीं करती है। वह कहती है कि गले लगाने के लिए तैयार की गई विशेष गाय तो और भी ज्यादा शांत है। जब एक गाय बोर हो जाती है तो वह उठकर चल देती है माना जाता है कि गायों को गले लगाने से मनुष्य के शरीर में ऑक्सिटोसिन निकलता है। जो शरीर को अच्छा अनुभव कराता है यह हार्मोन अच्छे सामाजिक संपर्क के दौरान निकलता है। माना जाता है कि ऑक्सिटोसिन संतुष्टि की भावना लाता है तनाव कम करता है और दोस्तों के साथ होने पर मन की शांति का अहसास कराता है

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.