hindi

सही तरीके से काम करने में शुरुआत में बाधाएं आती हैं, लेकिन बाद में सब ठीक हो जाता है

0 22

एक किसान अपनी बेटी के साथ गांव में कुटिया में रहता था. उसकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी. वह बहुत मेहनत करता था लेकिन पर्याप्त धन नहीं कमा पा रहा था. एक दिन वह अपनी समस्या को लेकर राजा के पास पहुंचा. राजा ने उसे अपने खेत में काम करने के लिए नियुक्त कर दिया. अब  किसान राजा के यहां खेती मजदूरी करता था. उसकी बेटी भी उसके साथ रहती थी.

 दिन किसान की बेटी खेत के बाहर पेड़ के नीचे खेल रही थी. किसान हल चला रहा था, तभी अचानक उसके हल से जमीन में कुछ टकराया. जब किसान ने गड्ढा खोदा तो उसे एक सोने की ओखली मिली. ओखली लेकर किसान बेटी के पास पहुंचा. उसने बेटी से कहा- यह उखली राजा के खेत से मिली है हमें उन्हें दे देनी चाहिए. किसान की बेटी बुद्धिमान थी. उसने कहा- अगर आप ऐसा करेंगे तो राजा आपकी बात पर भरोसा नहीं करेंगे. वह आपसे इसकी सोने की मुसल भी मांगेंगे तो आप क्या करेंगे.

किसान ईमानदार था. उसने कहा हमें जो चीज नहीं मिली वो राजा कैसे मांग सकते हैं. किसान राजा के पास पहुंचा और उसने राजा को ओखली दे दी. राजा को लगा कि ओखली मिली है तो इसकी मुसल भी मिली होगी. लेकिन किसान ने लालच के चलते मुसल खुद के पास रख ली. राजा ने किसान से ओखली की मुसल मांगी तो किसान ने कहा कि उसे केवल ओखली मिली.

किसान पर राजा को भरोसा नहीं हुआ और राजा ने किसान को जेल में डलवा दिया. अब किसान को अपनी बेटी की बात ना मानने का पछतावा हो रहा था. किसान कारागार में बस यही बोलता रहता, अगर मैंने बेटी की बात मान ली होती तो सुखी रहता. राजा को जब यह बात पता चली तो उसने किसान को बुलाया और पूछा क्या बात है.

किसान ने राजा से कहा- मुझे मेरी बेटी ने मना किया था कि मैं राजा को ओखली ना दूं. राजा मुझसे मुसल भी मांगेंगे. लेकिन मैंने उसकी बात नहीं मानी और ओखली आपको दे दी. इसी वजह से मैं आज कारागार में हूं. अगर मैंने बेटी की बात मान ली होती तो सुखी जीवन जी रहा होता. राजा ने किसान की बेटी को बुलाया. उसने भी यही बात कही. अब राजा को किसान पर भरोसा हो गया और उसने किसान की बेटी की बुद्धिमानी से खुश होकर उसे अपना कोषाध्यक्ष नियुक्त कर लिया. अब किसान और उसकी बेटी महल में रहने लगे और दोनों का जीवन पूरी तरह बदल गया.

कहानी की सीख 

इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि सही तरीके से काम करने पर शुरुआत में कुछ परेशानियां होती हैं, लेकिन बाद में सब कुछ ठीक हो जाता है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.