hindi

क्या है शकुंतला रेलवे की कहानी, नए भारत का एकमात्र प्राइवेट रेलवे ट्रैक

0 26

जब भी ट्रेन की बात होती है तो भारतीय रेलवे का नाम दिमाग में आता है. लेकिन क्या आप जानते हैं भारत में एक और रेलवे भी है, जो भारत सरकार के अधीन नहीं है. बल्कि यह प्राइवेट है. इस रेलवे ट्रैक पर प्राइवेट कंपनी का मालिकाना हक है. इसका नाम शकुंतला रेलवे है. क्या आप इस ट्रैक और इस रेलवे की कहानी जानते हैं. नहीं तो आज जान लीजिए.

यह एक नौरोगेज रेलवे लाइन है जो महाराष्ट्र प्रांत में अमरावती से मुर्तजापुर के बीच बिछी हुई है. यह रेलवे लाइन लगभग 190 किलोमीटर लंबी है, जिस पर पैसेंजर ट्रेन भी चलती है. यह ट्रेन लगभग 17 छोटे-बड़े स्टेशनों पर रूकती है. लगभग 100 साल पहले यहां पांच डिब्बों वाली स्टीम इंजन से चलने वाली ट्रेन चला करती थी. 

यह ट्रैक 1916 में बनाया गया था, जिस पर शकुंतला एक्सप्रेस नाम की ट्रेन चलती है. इसी वजह से इसे शकुंतला रेलवे ट्रेक या शकुंतला रेलवे कहते हैं. अंग्रेजों के समय में इस ट्रैक की शुरुआत हुई थी. अमरावती के इलाके में हुई कपास को मुंबई पोर्ट तक पहुंचाने में इस रेल का इस्तेमाल किया जाता था. 

1952 में जब रेलवे का राष्ट्रीयकरण हुआ तो इसका राष्ट्रीयकरण नहीं हो पाया. इसी वजह से यह रेलवे ट्रैक अलग रह गया और इसका संचालन और संरक्षण आज भी ब्रिटेन की कंपनी करती है. रेलवे के अनुसार पिछले 60 साल से इसकी मरम्मत भी नहीं हुई है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.