hindi

फरारी के मालिक से अपनी बेइज्जती का बदला लेने को किसान के बेटे ने बना डाली थी लम्‍बोर्गिनी

0 21

लम्‍बोर्गिनी खरीदना हर युवा का सपना है. लेकिन जिस गाड़ी को आज हर कोई खरीदना चाहता है, उसके पीछे की कहानी बहुत ही हैरान करने वाली है. एक किसान का बेटा जो ट्रैक्टर बनाता था, उसने एक ऐसी कार तैयार कर दी जिसे हासिल करना बिल्कुल सपने जैसा है.

लम्‍बोर्गिनी की शुरुआत इटली के उद्यमी फारुशियो लम्‍बोर्गिनी ने की थी. फारुशियो के माता-पिता खेती अंगूर की खेती करते थे. लेकिन फारुशियो को हमेशा से ही खेती में काम आने वाले उपकरण बनाने का शौक था. द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान वह रॉयल एयरफोर्स से जुड़े और बतौर मैकेनिक वायु सेना के साथ रहे. युद्ध समाप्त होने के बाद उन्होंने ट्रैक्टर्स बनाने का काम शुरू किया और देखते ही देखते उनकी ट्रैक्टर कंपनी दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी बन गई, जो कृषि उपकरण तैयार करती थी.

फारुशियो के पास आलीशान गाड़ियां थी. फारुशियो ने कई फरारी खरीदने का फैसला भी किया. लेकिन इस फैसले की वजह से ही उनकी जिंदगी में एक टर्निंग प्वाइंट भी आया. फारुशियो ने फरारी खरीदी. एक दिन वह फरारी लेकर सैर के लिए निकले. लेकिन उनकी गाड़ी के क्लच में कुछ दिक्कत आ गई. क्‍लच ठीक से काम नहीं कर रहा था. फारुशियो ने इस खराबी के बारे में फरारी के मालिक एंजो फरारी को बताया. लेकिन वह गाड़ी को ठीक करने की बजाय इसके मालिक से बात करना चाहते थे.

जब इस बारे में फारुशियो ने एंजो को बताया तो वो उन पर भड़क गए. एंजो फरारी ने फारुशियो को जवाब दिया कि गलती क्लच की नहीं बल्कि इस कार को ड्राइव करने वाले की है. एंजो ने फारुशियो से कहा कि फरारी चलाने की जगह ट्रैक्टर की सवारी करनी चाहिए. फारुशियो को यह बात बुरी लग गई और उन्होंने उसी दिन फैसला कर लिया कि वह अपनी बेइज्जती का बदला जरूर लेंगे. उन्होंने किसी भी सूरत में रेसिंग कार बनाने का प्रण कर लिया. 

फारुशियो ने स्पोर्ट्स कार बनाने पर काम शुरू कर दिया. उन्होंने पहले गाड़ी के डिजाइन बनाने शुरू किए. कुछ ही महीनों में उन्होंने रेसिंग कार तैयार कर ली. रेसिंग कार के सिंबल के तौर पर उन्होंने बैल की फोटो का प्रयोग किया, क्योंकि उनकी राशि वृष थी, जिसकी निशानी एक बैल होता है. इसीलिए लम्बोर्गिनी का सिंबल बैल है. अपनी पहली कार लम्बोर्गिनी को बनाने के लिए उन्होंने तीन इंजीनियर रखें, जिसमें एक पुराना और दो यंग इंजीनियर थे. 1963 में पहली लम्बोर्गिनी कार सबके सामने आई. 1964 की शुरुआत में लम्बोर्गिनी की बिक्री भी शुरू हो गई. देखते ही देखते लम्बोर्गिनी हिट हो गई कि इसे खरीदने के लिए लोगों में होड़ मच गई.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.