hindi

मिलिए हवलदार मुन्ना से, जिसके कारनामे जान आप भी रह जाएंगे दंग…. ये धाकड़ बकरा है सेना का हिस्सा

0 29

30 मार्च को उत्तर प्रदेश के लखनऊ में आर्मी मेडिकल कॉर्प्स सेंटर अपना स्थापना दिवस मनाने जा रहा है. यह कार्यक्रम एक बकरे की वजह से काफी सुर्खियों में है. दरअसल यह एक मारवाड़ी नस्ल का बकरा है, जिसका नाम मुन्ना हवलदार है. वैसे यह कोई आम बकरा नहीं है. यह भारतीय सेना का हिस्सा है. पर यह बकरा इतना खास क्यों है और इसकी इतनी ज्यादा चर्चा क्यों हो रही है. आइए जानते हैं 

बता दें कि यह बकरा बहुत ही खास का है और इसे काफी शुभ माना जाता है. यह बकरा मार्च पास्ट में अपने बैंड का नेतृत्व करेगा. यह बकरा अपनी कद काठी की वजह से काफी मशहूर है. इसकी लंबाई 4 फिट है. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट की मानें तो लगभग 70 साल पहले 16 अप्रैल, 1951 को सेना में मारवाड़ी नस्ल का एक बकरा पेश किया गया था. उस समय यह बकरा ग्वालियर के महाराजा जीवाजीराव सिंधिया की ओर से दिया गया था, जब महाराजा के बैंड का भी विलय AMC में मिला दिया गया.

एक काले मारवाड़ी नस्ल के बकरे ‘हवलदार मुन्ना’ को महाराजा ने भारतीय सेना को उपहार में दिया था. रिपोर्ट के मुताबिक, मुन्ना हवलदार के रिटायर होने में केवल 2 साल बचे हैं. बकरे की ड्रेस भी काफी अलग है. वह गले में घंटी पहनता है और मरून दुपट्टा ओढ़े रहता है. इस ड्रेस में एएमसी के प्रतीक चिन्ह भी लगे हुए हैं. मुन्ना की डाइट में मल्टीग्रेन, गुड़, फल, घास में शामिल हैं. वह केवल अपने हैंडलर की सुनता है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.