hindi

झटके से बचाव के लिए सभी वाहनों में लगाए जाते हैं शॉकर, लेकिन ट्रैक्टर में क्यों नहीं? जानिए वजह

0 23

वाहन चाहे कोई भी हो, लेकिन उसमें शॉकर जरूर लगाए जाते हैं. वाहनों की लंबी आयु और चालक की सुविधा के हिसाब से उसमें शॉकर लगाए जाते हैं. वही मालवाहक वाहनों में सामान की सुरक्षा के लिए सस्पेंशन सिस्टम लगा होता है. यह वाहन और चालक को झटकों से बचा कर उसे एब्सॉर्ब करने का काम करता है. लेकिन कुछ वाहन ऐसे भी हैं जिनमें शॉक एब्सॉर्ब करने के लिए सस्पेंशन सिस्टम नहीं होता. ट्रैक्टर भी ऐसा ही वाहन है जिसमें सस्पेंशन सिस्टम नहीं होता. लेकिन ऐसा क्यों होता है. आज जान लीजिए.

इस वजह से ट्रैक्टर में नहीं लगाए जाते सस्पेंशन सिस्टम 

ट्रैक्टर एक ऐसा वाहन है, जिसे भार खींचने और खेतों में इस्तेमाल किया जाता है. अगर ट्रैक्टर में शॉकर लगा दिए जाएं तो वह ना तो ठीक से भार खींच पाएंगे और ना ही खेतों में काम कर पाएंगे. ऐसे में आप समझ सकते हैं कि अगर ट्रैक्टर में शॉकर लगाए जाएं तो वह गड्ढे में जाने के बाद बाउंस करने लगेगा, जिससे पीछे की ट्रॉली बाउंस करने लगेगी और उसमें रखा सामान गिर जाएगा. 

इतना ही नहीं अगर गड्ढे में जाने के बाद ट्रैक्टर ज्यादा बाउंस हुआ तो ट्रॉली भी पलट सकती है. इससे ट्रैक्टर जितना ज्यादा बाउंस होगा, वहां जुताई का लेवल उतना ऊंचा हो जाएगा. हालांकि ट्रैक्टर में ड्राइवर की सहूलियत के लिए उनकी सीट के लिए सस्पेंशन सिस्टम लगाए जाते हैं, ताकि झटका लगने पर ड्राइवर पर कम से कम असर पड़े. इसके लिए ट्रैक्टर के अगले दो पहियों में एक खास तरह के मैकेनिज्म का इस्तेमाल किया जाता है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.