hindi

वनडे क्रिकेट में हैंडल द बॉल आउट होने वाले 3 खिलाड़ी, लिस्ट में 1 भारतीय भी शामिल’

0 31

क्रिकेट के खेल में एक बल्लेबाज के आउट होने के कई तरह के नियम शामिल हैं. ज्यादातर समय खिलाड़ी साधारण नियमों के तहत आउट होते हैं. कोई भी खिलाड़ी यह नहीं चाहता कि वह अजीबोगरीब तरीके से आउट होकर पवेलियन लौटे. मैरीलेबोन क्रिकेट क्लब के नियम संख्या 33 के अनुसार बल्लेबाज को हैंडल्ड द बॉल नियम के तहत आउट दिया जा सकता है. अब तक इस नियम के तहत 10 खिलाड़ी आउट हो चुके हैं, जिसमें 3 खिलाड़ी वनडे में आउट हुए हैं. आज हम आपको उन्हीं खिलाड़ियों के बारे में बता रहे हैं.

मोहिंदर अमरनाथ

वनडे में इस नियम का पहला शिकार पूर्व भारतीय क्रिकेटर मोहिंदर अमरनाथ हुए थे. 1986 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक मैच वनडे मैच के दौरान मेलबर्न में अमरनाथ 15 के स्कोर पर बैटिंग कर रहे थे. ऑस्ट्रेलिया के ग्रेग मैथ्यूज की एक गेंद अमरनाथ को चकमा देते हुए स्टंप की ओर बढ़ गई. विकेट को गिरने से बचाने के लिए अमरनाथ उसे अपने हाथों से पकड़ लिया. लेकिन जब उन्हें अपनी गलती का एहसास हुआ तो वह खुद ही पवेलियन लौट गए.

डेरिल कलिनन

नवनडे क्रिकेट में इस नियम का दूसरा 1999 में दक्षिण अफ्रीका के युवा खिलाड़ी डेरिल कलिनन हुए. वेस्टइंडीज के खिलाफ एक वनडे मैच के दौरान स्पिन गेंदबाज के केथ अर्थटन की गेंदबाजी का सामना कर रहे थे. इस दौरान कलिनन ने एक गेंद ने अपने हाथों से रोक दिया. हालांकि वो गेंद स्टंप के पास नहीं थी. लेकिन वेस्टइंडीज के कप्तान ब्रायन लारा ने आउट की अपील की और कलिनन को नियम के अनुसार 46 के स्कोर पर अंपायर ने हैंडलिंग द बॉल नियम के तहत आउट दे दिया.

चामू चिबाबा

2015 में जिम्बाब्वे के दौरे पर अफगानिस्तानी क्रिकेटर चामू चिबाबा ने वनडे सीरीज के दौरान अफगान स्पिनर आमिर हमजा की गेंद को कट करने का प्रयास किया. लेकिन गेंद उनके बल्ले से लगकर स्टंप पर लगने वाली थी, जिसको देखते हुए चिबाबा ने गेंद को हाथों से पकड़ लिया. जिसके तुरंत बाद विकेटकीपर मोहम्मद शहजाद आउट की अपील की और अंपायर ने उन्हें आउट करार दिया.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.