hindi

खाना खाकर ग्लास-प्लेट भी खा जाते हैं यहां के लोग, जानकर चौंक जाएंगे आप

0 7

घर में खाना खाने के लिए जिन बर्तनों का हम इस्तेमाल करते हैं, वह धातु, कांच या मिट्टी के होते हैं, जिन्हें खाने के बाद धोकर फिर से इस्तेमाल किया जाता है. लेकिन उत्तरी अमेरिका, लैटिन अमेरिका, पूर्वी यूरोप, पश्चिमी यूरोप, जापान और भारत में कई ऐसी जगह है, जहां लोग खाना खाने के बाद ग्लास-प्लेट फेंकते नहीं है, बल्कि उन्हें खा लेते हैं.

दरअसल, विश्व के कई देश ऐसे हैं जहां एडिबल कटलरी की शुरुआत हो चुकी है, जिनमें प्लेट, गिलास, कटोरी, चम्मच आदि शामिल हैं, जिन्हें खाया जा सकता है, क्योंकि इन्हें खाद्य पदार्थों से ही बनाया जाता है. पहले यह कटलरी गेहूं के भूसे से तैयार की जाती थी. हालांकि अब इसमें कई फ्लेवर आने लगे हैं. अब तो चॉकलेट फ्लेवर भी शामिल हो गया है. अब इसमें मसाले भी इस्तेमाल किए जाते हैं.

एडिबल कटलरी के इस्तेमाल से पर्यावरण को भी नुकसान नहीं होता. हालांकि एडिबल कटलरी प्लास्टिक कटलरी के मुकाबले थोड़े महंगे हैं. अगर प्लास्टिक से बने चम्मच से तुलना करें तो थोक बाजार में साधारण प्लास्टिक से बने 100 चम्मच की कीमत 15 से 100 रुपये है. लेकिन एडिबल चम्मच की कीमत ₹300 से ₹500 हो सकती है. बता दें कि प्लास्टिक के इस्तेमाल से पर्यावरण को बहुत ज्यादा नुकसान हो रहा है, जिसका असर हमारे ऊपर ही पड़ रहा है. ऐसे में पर्यावरण को बचाए रखने के लिए कई तरह के प्रयोग किए जा रहे हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.