hindi

क्यों भारतीय सेना की इस रेजिमेंट के जवान कहते हैं तगड़ा रहो, जाने क्या है तगड़े रहने का राज

0 7

दुनिया कोरोना वायरस महामारी से जूझ रही है. जाने कब इस महामारी से छुटकारा मिलेगा. आज हम आपको भारतीय सेना की उस रेजिमेंट के बारे में बता रहे हैं, जिसके जवान अगर आप से मिलेंगे तो कहेंगे तगड़ा रहो. यह रेजिमेंट सेना की असम रेजीमेंट है. तगड़ा रहो रेजिमेंट का अभिवादन का पारंपरिक तरीका है.

तगड़ा रहो यानी हमेशा स्वस्थ रहो, तंदुरुस्त रहो. इस रेजीमेंट में नॉर्थ-ईस्ट के 7 राज्यों के नागरिकों को शामिल किया जाता है. असम रेजीमेंट का गठन 15 जून 1941 को मेघालय के शिलॉन्‍ग में लेफ्टिनेंट कर्नल रॉस हॉमैन ने किया था. रेजिमेंट का गठन भारत में जापान की तरफ से होने वाली घुसपैठ के खतरे को कम करने के मकसद से किया गया था.

रेजिमेंट का गठन होने के 6 महीने के भीतर ही दिगबोई में ऑयल फील्‍ड्स की रक्षा करने के लिए रवाना कर दिया गया. 1944 में जब भारत में जापान की तरफ से घुसपैठ का खतरा बढ़ा तो इसे जेसामी और खारासोम में रवाना किया गया था. रेजीमेंट ने गठन होने के 3 साल के अंदर ही कई लड़ाइयां लड़ी.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.