hindi

कभी जय वीरू जैसा था इन भारतीय क्रिकेटरों का याराना, लेकिन एक झगड़े की वजह से खत्म हुआ दोस्ताना

0 38

आपने यह कहावत तो सुनी होगी कि खेल में लड़ाई-झगड़े होते रहते हैं और कभी-कभी यह लड़ाई-झगड़े बड़ा रूप ले लेते हैं. यह लड़ाई-झगड़े खिलाड़ियों के साथ-साथ उनकी टीम के लिए भी काफी नुकसानदायक होते हैं. कई बार भारतीय क्रिकेट के खिलाड़ियों के झगड़े की खबरें भी सामने आ चुकी हैं. आज हम आपको भारतीय टीम के कुछ ऐसे ही खिलाड़ियों के विवाद के बारे में बताने जा रहे हैं.

सौरव और राहुल द्रविड़ का विवाद

जब टीम इंडिया के कप्तान राहुल द्रविड़ थे, तब सौरव गांगुली को ऐसा लगता था कि द्रविड़ के कप्तान होते हुए भी वो कोच ग्रेग चैपल के मामले में चुप रहते हैं. साल 2011 में एक इंटरव्यू के दौरान सौरव गांगुली ने द्रविड़ को घर में ही घेर लिया. सौरव गांगुली ने कहा- द्रविड़ ऐसे व्यक्ति हैं, जो चाहते हैं कि हर चीज ठीक से चलती रहे. कई चीजें गलत हो रही थी, लेकिन उनमें चैपल से ये कहने की हिम्मत नहीं थी कि वे गलत कर रहे हैं.

रवि शास्त्री और सौरव गांगुली का विवाद

2016 में बीसीसीआई ने कोच के चयन के लिए एक समिति का गठन किया, जिसमें तेंदुलकर, गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण थे. समिति की सिफारिश पर अनिल कुंबले को भारतीय टीम का हेड कोच नियुक्त किया गया के लिएहेड कोच नियुक्त किया गया था. कोच पद के लिए रवि शास्त्री ने भी इंटरव्यू दिया था. उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए इंटरव्यू में हिस्सा लिया था, क्योंकि वह समय बैंकॉक में थे. रवि शास्त्री के इंटरव्यू के दौरान सौरव गांगुली मौजूद नहीं थे, जिस पर रवि शास्त्री ने कहा कि इंटरव्यू में ना आकर सौरव गांगुली ने उनकी बेइज्जती की है. जिसका गांगुली ने भी उन्हें जवाब दिया और कहा कि उन्हें भी छुट्टियां मनाने की बजाय इंटरव्यू के लिए भारत में मौजूद रहना चाहिए था.

सचिन तेंदुलकर और विनोद कांबली विवाद

अपने क्रिकेट करियर के दौरान सचिन तेंदुलकर और विनोद कांबली टीम से कई बार बाहर और अंदर हुए. लेकिन एक भी बार वो टीम इंडिया में अपनी जगह पक्की नही कर सके. साथ ही उन्होंने अपने बचपन के दोस्त सचिन तेंदुलकर पर भी उन्हें मुश्किल समय में साथ ना देने का आरोप लगाया. सचिन ने अपनी रिटायरमेंट स्पीच में कांबली का नाम भी नहीं लिया था. इसको लेकर भी वो काफी दुखी नजर आए थे.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.