hindi

टेस्ट इतिहास में पहला रन और पहला शतक लगाने वाला खिलाडी देश के लिए खेल पाया केवल तीन ही मैच

0 17

किसी भी क्रिकेटर का सपना अपने देश के लिए खेलना होता है. अगर उसका नाम इतिहास में दर्ज हो जाए तो यह सोने पर सुहागे जैसा होगा. लेकिन कुछ खिलाड़ी ऐसे हैं, जिन्होंने अपना नाम इतिहास के पन्नों में दर्ज कराया है. चार्ल्स बैनरमैन भी उन्हीं में से एक थे, जिनका जन्म 3 जुलाई 1851 को इंग्लैंड के कैंट में हुआ था. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के लिए क्रिकेट खेला. लेकिन अपने करियर में वह केवल तीन ही टेस्ट में खेल पाए.

चार्ल्स बैनरमैन के नाम टेस्ट के इतिहास की पहली गेंद, पहला रन, पहला अर्धशतक और पहला शतक समेत कई रिकॉर्ड दर्ज हैं. लेकिन फिर भी वह केवल तीन ही मैच खेल पाए. इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहला टेस्ट मैच 15 मार्च 1877 से शुरू हुआ था. इस मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की थी. चार्ल्स बैनरमैन ने टेस्ट इतिहास की पहली गेंद खेली. इसके बाद उन्होंने कई रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज किए.

उन्होंने पहले अर्धशतक ठोक दिया. इस मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया की टीम पहली पारी में 245 रन बना पाई, जिसमें चार्ल्स बैनरमैन ने 165 रन बनाए थे. लेकिन दूसरी पारी में वह केवल 4 रन बनाकर ही आउट हो गए थे. टेस्ट इतिहास का पहला शतक लगाने के बाद अपने करियर में चार्ल्स बैनरमैन कभी भी 30 से ज्यादा रन नहीं बना सके. बीमारी के चलते वह केवल तीन ही टेस्ट मैच खेल पाए. लेकिन उनका नाम क्रिकेट इतिहास में हमेशा के लिए दर्ज हो गया.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.