hindi

आसमान से क्यों गिरती है बिजली, यह कैसे बन जाती है जानलेवा? जाने इससे बचने के उपाय

0 25

जब आसमान में बादल होते हैं तो बारिश के साथ-साथ बिजली कड़कती है. कई बार बिजली गिर जाती है जिससे लोगों की मौत भी हो जाती है. बादलों के अंदर गर्म हवा के कारण कण ऊपर बढ़ना चाहते हैं. लेकिन ठंडी हवाओं के क्रिस्टल से उनका टकराव होता है, जिससे बिजली की चमक पैदा होती है. बादलों के बीच होने वाली यह टकरार इतनी जोरदार होती है कि इससे जो बिजली पैदा होती है वह सूर्य की सतह से 3 गुना ज्यादा गर्म होती है, जिससे गड़गड़ाहट की तेज आवाज भी उत्पन्न होती है.

रिपोर्ट के मुताबिक, आकाशीय बिजली का तापमान सूरज की ऊपरी सतह से भी कई गुना अधिक होता है, जिसकी क्षमता 300 किलो वाट से ज्यादा चार्ज की होती है. दोपहर के वक्त बिजली गिरने की संभावना ज्यादा होती है. मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, आकाशीय बिजली धरती पर पहुंचने के बाद ऐसे माध्यम को तलाशता है, जहां से वह गुजर सके. 

जब आकाशीय बिजली, बिजली के खंभों के संपर्क में आती है तो उसके लिए कंडक्टर का काम करते हैं. लेकिन अगर कोई व्यक्ति इसकी परिधि में आ जाता है तो वह उसके लिए कंडक्टर का काम करता है. यह बिजली मनुष्य के सिर, गले और कंधे पर सबसे ज्यादा प्रभाव डालती है. अगर बादल गरज रहे हो तो ऐसे समय में घर के अंदर ही रहना चाहिए और बिजली पैदा करने वाली चीजों से दूरी बनाकर रखनी चाहिए. अगर आप किसी खुले मैदान में है तो जल्दी से जल्दी बिल्डिंग में जाकर खड़े हो जाएं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.