hindi

गली-मोहल्लों के नुक्कड़ पर लगे देखे होंगे बिजली के ट्रांसफॉर्मर, लेकिन क्या होता है इनका काम, क्या जानते हैं?

0 26

आपने अक्सर अपने आसपास गली-मोहल्ले के नुक्कड़ पर बिजली के ट्रांसफार्मर लगे देखे होंगे. अगर ट्रांसफार्मर ना होते तो हमारे घर में मौजूद बिजली से चलने वाले उपकरण ठीक से काम नहीं कर पाएंगे और खराब हो जाएंगे. इतना ही नहीं बिजली के उपकरणों में आग भी लग सकती है. पर क्या आप जानते हैं कि ट्रांसफार्मर का क्या काम होता है और यह कैसे काम करता है.

क्या होता है ट्रांसफार्मर का काम 

ट्रांसफार्मर एक विद्युत उपकरण है जिसका मुख्य काम बिजली की पावर को घटाना, बढ़ाना या सामान्य रूप से सप्लाई करना होता है. ट्रांसफार्मर जरूरत के हिसाब से बिजली की सप्लाई करता है. अगर किसी मोहल्ले में ज्यादा वोल्ट की बिजली चाहिए तो ट्रांसफार्मर वहां ज्यादा वोल्ट की बिजली सप्लाई करेगा और अगर मोहल्ले में कम वोल्ट की बिजली चाहिए तो यह उस मोहल्ले में कम वोल्ट की बिजली सप्लाई करता है. कुछ लोगों को ऐसा लगता है कि ट्रांसफार्मर बिजली उत्पन्न करता है, लेकिन ऐसा नहीं है, यह केवल बिजली की फ्रीक्वेंसी को कम किए बिना उसे जरूरत के हिसाब से ज्यादा करता है.

कैसे करता है काम 

ट्रांसफार्मर का सिद्धांत म्यूचुअल इंडक्शन के सिद्धांत पर आधारित है. ट्रांसफार्मर कई तरह के होते हैं. यह मुख्य रूप से तीन आधार पर अलग-अलग होते हैं. ट्रांसफार्मर आउटपुट वोल्टेज, कोर की संरचना और फेज की संख्या के आधार पर बांटे गए हैं. आउटपुट वोल्टेज के तहत स्टेप अप और स्टेप डाउन दो तरह के ट्रांसफार्मर होते हैं. कोर की संरचना के आधार पर ये कोर टाइप और शेल टाइप दो तरह के होते हैं और फेज की संख्या के आधार पर ये मुख्यतः सिंगल फेज और थ्री फेज के होते हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.