hindi

नॉर्थ ईस्ट रेलवे पहुंच गया यूपी, मध्य रेलवे है कहीं और….क्या सोचा है, क्यों हो गया ऐसा ?

0 27

भारतीय रेल नेटवर्क दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है. रेलवे के कार्यों को व्यवस्थित रखने के लिए अलग-अलग जोन बनाए गए हैं, जिनको अलग-अलग डिवीजन में बांटा गया है. हर एक जोन का प्रमुख जनरल मैनेजर होता है. जबकि प्रत्येक डिवीजन का एक हेड डिवीजन रेलवे मैनेजर यानी डीआरएम होता है. भारतीय रेलवे नेटवर्क में 18 जोन और 70 डिवीजन हैं. हालांकि 2019 से पहले केवल 17 ही जॉन थे. 

ये हैं भारत के 18 रेलवे जोन 

सेंट्रल रेलवे, कोंकण रेलवे, उत्तर रेलवे, उत्तर मध्य रेलवे, उत्तर पूर्व रेलवे, उत्तरपूर्वी फ्रंटियर रेलवे, उत्तर पश्चिम रेलवे, पूर्वी रेलवे, पूर्व मध्य रेलवे, पूर्व तटीय रेलवे, दक्षिण रेलवे, दक्षिण मध्य रेलवे, दक्षिण पश्चिम रेलवे, दक्षिण तटीय रेलवे, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे, दक्षिण पश्चिमी रेलवे, पश्चिम रेलवे, पश्चिम मध्य रेलवे

हालांकि भारतीय रेलवे के कई डिवीजन बहुत अव्यवस्थित लगते हैं, जैसे- रेलवे का उत्तर पूर्वी जोन उत्तर प्रदेश में स्थित है. जबकि इस जोन को कायदे से भारत के उत्तर पूर्वी क्षेत्र में होना चाहिए था. इस व्यवस्था को लेकर यांत्रिक इंजीनियर अनिमेष कुमार सिन्हा के मुताबिक, भारतीय रेल के विभिन्न जोन के नाम काफी व्यवस्थित तौर पर रखे गए थे. लेकिन विभाजन के बाद यह अव्यवस्थित हो गए.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.