hindi

रामायण और महाभारत दोनों में थे ये लोग, क्या कभी आपने किया गौर ?

0 28

रामायण और महाभारत दोनों अलग-अलग युग की कहानियां है. एक युग पूरा होने में कई हजार साल लग जाते हैं. रामायण त्रेता युग की कहानी है, जबकि महाभारत में द्वापर युग का जिक्र किया गया है. आपने रामायण और महाभारत टीवी पर देखी होगी. लेकिन क्या आपने कभी गौर किया है कि रामायण और महाभारत में कई ऐसे किरदार हैं, जिनका जिक्र दोनों कहानियों में मिलता है. ऐसा कहा जाता है कि इनका जीवन काफी लंबा रहा और अवतार होने की वजह से उनकी उपस्थिति दोनों युग में है.

परशुराम 

अगर आपने रामायण देखी होगी तो आपको पता होगा कि जब सीता स्वयंवर के वक्त भगवान राम ने धनुष तोड़ा था तो वहां परशुराम आ जाते हैं और वह इसके बाद अपना सुदर्शन भी रामजी को दे देते हैं. महाभारत में भी कई जगह परशुराम का जिक्र है. महाभारत में परशुराम ने ही कर्ण को शिक्षा दी थी. ऐसा कहा जाता है कि परशुराम जी रामायण और महाभारत दोनों में थे.

हनुमान जी 

हनुमान जी राम जी के भक्त थे, यह तो सब जानते हैं. महाभारत में भी हनुमान जी का जिक्र मिलता है. महाभारत में भी पांडव पुत्र भीम और हनुमान के बीच बातचीत दिखाई गई है.

महर्षि दुर्वासा 

महर्षि दुर्वासा रामायण और महाभारत दोनों में थे, ऐसा कहा जाता है. रामायण में दुर्वासा ऋषि और दशरथ के बीच कई बार बातचीत दिखाई गई. जबकि महाभारत में ऋषि दुर्वासा पांडव के निर्वासन के समय द्रोपदी की परीक्षा लेने उनकी कुटिया में पहुंचे थे.

जामवंत 

जामवंत ने रामायण में सीता जी को ढूंढने और रावण से युद्ध में भगवान राम की मदद की थी. लेकिन यह भी कहा जाता है कि जामवंत महाभारत के दौर में भी थे और उन्होंने भगवान श्री कृष्ण से युद्ध किया था.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.