hindi

क्या पीछे हटने वाले सैनिक पर हमला करना युद्ध अपराध है, जानिए क्या है वॉर क्राइम

0 10

जब भी दो देशों के बीच युद्ध होता है तो स्थिति बहुत भयानक होती है. हर कोई बस जीत हासिल करने के इरादे से आगे बढ़ता है. भारत का भी कई देशों से युद्ध हो चुका है. पिछले साल भारत और चीन के बीच काफी हालात खराब हो गए थे. भारत और चीनी सैनिकों के बीच झड़प हुई थी, जिसके बाद तनावपूर्ण हालात हो गए थे. 2019 में भी ऐसी ही स्थिति आई थी, जब पाकिस्‍तान ने विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान को बंदी बना लिया था. 

अब सवाल उठता है कि क्‍या अगर कोई सैनिक पीछे हटता है और दुश्‍मन उस पर हमला कर दे तो क्‍या वो युद्ध अपराध माना जाएगा? लेफ्टिनेंट कर्नल रैंक के ऑफिसर ने बताया कि जेनेवा संधि वॉर क्राइम्‍स यानी युद्ध अपराध के बारे में बताती है कि कोई भी देश 4 नियमों को मानकर युद्ध की स्थिति में आगे बढ़ता है-

Advance यानी आगे बढ़ना
Attack यानी हमला
Defence यानी रक्षा
Withdrawal यानी सेना को वापस बुलाना

ऑफिसर के मुताबिक, विड्रॉल की स्थिति कभी नहीं आती है और कोई भी देश अपने सैनिकों को अपनी सीमा को खाली करने के लिए नहीं कहता है. दुश्‍मन अगर हमला करेगा तो उसका जवाब अटैक से ही दिया जाएगा और डिफेंस यानी अपने देश की रक्षा का भी ध्‍यान रखना है. 

इन चारों नियमों के अलावा एक और यह नियम है कि अगर किसी भी देश का सैनिक शांति चाहता है तो फिर सफेद झंडे के साथ आगे बढ़ता है और अगर इस सैनिक पर दुश्मन हमला कर देता है तो फिर युद्ध अपराध है. ऐसी स्थिति में युद्ध होने लगता है.

क्या होता है वॉर क्राइम 

अगर सैनिक युद्ध के नियमों को ना माने 
जो लोग शत्रु की सेना के सदस्य नहीं है, लेकिन फिर भी हमला कर रहे हैं तो यह भी वॉर क्राइम है.
जासूसी तथा युद्ध से जुड़ा विश्वासघात 
लूटपाट को अंजाम देना भी वॉर क्राइम है.

युद्ध के नियम 

जो लोग नहीं लड़ रहे उनकी रक्षा करना 
जो लोग युद्ध में समर्थ नहीं हैं, उनकी रक्षा करना 
नागरिकों को निशाना नहीं बनाना 
हर नागरिक को युद्ध के खतरे से बचाना 
बीमार और घायलों की देखभाल करना 
शरणार्थियों के खाने पानी का इंतजाम करना 
एक सीमा तक हथियार का प्रयोग करना 
बलात्कार जैसे अपराधों से बचना 

कब होता है नियमों का उल्लंघन 

गलत तरीके से या जहरीले हथियार का यूज करना 
पीड़ित और निहत्थे सैनिकों पर हमला करना 
हत्या या हत्या करने के लिए किसी को नियुक्त करना 
विश्वासघात करना 
युद्ध बंदियों के साथ गलत बर्ताव करना और उनके पैसे की चोरी करना 
आम नागरिकों को मारना 

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.