hindi

बिजली के बिल से हमेशा के लिए छुटकारा पाने के लिए घर पर कैसे लगवाएं सोलर सिस्टम, कितना होता है खर्चा ?

0 27

सोलर प्लांट लगवाने का चलन तेजी से बढ़ रहा है. इससे बिजली के पैसों की बचत होती है और पर्यावरण प्रदूषण भी नहीं फैलता. आप चाहे तो आप भी अपने घर पर सोलर प्लांट लगवा सकते हैं. इसमें कितना खर्चा होता है, इस बारे में भी जान लीजिए. 

सोलर प्लांट 3 तरीके के होते हैं- ऑन ग्रिड प्लांट, ऑफ़ ग्रिड प्लांट और हाइब्रिड प्लांट. ऑन ग्रिड प्लांट वह होता है जिसमें बैटरी नहीं लगाते. ये सीधे बिजली विभाग से कनेक्ट होता है. इसमें जितनी बिजली बनती है वह बिजली विभाग को जाती है. ऑफ ग्रिड प्लांट में बैटरी भी लगी होती है, जिससे आप बैकअप के लिए बिजली स्टोर कर सकते हैं. हाइब्रिड प्लांट की खासियत यह है कि यह पहले बैकअप बनाता है और बिजली भी सप्लाई करता है.

कौन-सा लगवाना होगा बेहतर 

अगर आपके घर के इलाके में बिजली की ज्यादा कटौती नहीं होती तो आप ऑन ग्रिड प्लांट लगवा सकते हैं. ज्यादातर लोग यही लगाते हैं. इसकी खासियत यह है कि इसमें आपको कोई भी मेंटेनेंस कॉस्ट नहीं लगती. इसमें जो भी पैनल लगते हैं उनकी कुछ सालों की वारंटी होती है.

किस हिसाब से लगता है सोलर प्लांट 

सोलर प्लांट की जितनी ज्यादा प्लेटें होंगी, उतनी ही ज्यादा बिजली जनरेट होती है. जैसे अगर आप 8 प्लेट की बात करें और हर प्लेट की कैपेसिटी 350 वॉट होती है. इसके लिए एक इनवर्टर भी लगाना होता है, जो सब कुछ बताता है कि कितनी बिजली जनरेट हो रही है.

कितना होता है खर्चा 

आप कितने वाट का सोलर प्लांट लगाते हैं, खर्चा उस पर निर्भर करता है. अगर आप 20 प्लेट का सोलर सिस्टम लगाते हैं जिससे लगभग 6.5 किलोवॉट बिजली बनती है तो इसके लिए 3 से साढ़े 3 लाख खर्च करने होते हैं. हालांकि 3 लाख में से राज्य और केंद्र सरकार की तरफ से सब्सिडी मिलती है. उत्तर प्रदेश सरकार इतने पैसों पर आपको 30,000 की सब्सिडी दे सकती है. केंद्र से यह सब्सिडी 90,000 मिलती है. आपको कुल मिलाकर एक लाख से ज्यादा की सब्सिडी मिल जाती है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.