hindi

एक लड़की की वजह से 42 साल तक बंद रहा ये रेलवे स्टेशन और बन गया भूतिया….शाम 5:30 बजे छा जाता है सन्नाटा

0 28

पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिले में बेगुनकोदार नामक रेलवे स्टेशन है जो 42 साल तक बंद पड़ा रहा और यह भी एक लड़की की वजह से. इसके पीछे की कहानी जानकर आपके होश उड़ जाएंगे. लोग कहते हैं कि इस स्टेशन पर एक लड़की का भूत रहता है. शाम होते ही यहां सन्नाटा छा जाता है. कोई भी यहां नहीं आना चाहता. 

यह स्टेशन 1960 में शुरू हुआ था. लेकिन 7 साल बाद इसे बंद कर दिया गया. हालांकि 2007 में गांव वालों ने तत्कालीन रेलमंत्री ममता बनर्जी को चिट्ठी लिखी. तब इस स्टेशन को खोला गया. लेकिन आज भी लोग इसे भूतिया मानते हैं. इसके आसपास जो बिल्डिंग हैं, वह भी पूरी तरह से सुनसान पड़ी हुई है. स्टेशन पर प्लेटफार्म भी नहीं है. यहां बस एक टिकट काउंटर है जो कोने में बना हुआ है.

ऐसा कहा जाता है कि 1967 में एक रेलवे कर्मचारी ने बेगुनकोदार स्टेशन पर एक महिला का भूत देखने का दावा किया था, जिसके बाद यह अफवाह उड़ी थी कि उस महिला की मौत उसी स्टेशन पर एक ट्रेन दुर्घटना में हो गई थी. इस बारे में रेलवे कर्मचारी ने अगले दिन लोगों को बताया. लेकिन उसकी बातों को अनदेखा कर दिया गया.

कुछ लोगों का कहना है कि उन्होंने इस रेलवे स्टेशन पर एक लड़की को चलते हुए देखा है जो सफेद साड़ी में घूमती रहती है. इसी घटना के बाद इस स्टेशन को भूतिया कहा जाने लगा. आज भी लोग इन बातों पर यकीन करते हैं और गांव के आसपास के लोग 5:30 बजे के बाद यहां नहीं जाते हैं. स्टेशन के आसपास चावल के खेत हैं और दूर-दूर तक इंसानों का नामोनिशान नहीं है. जब भी रात में स्टेशन से कोई ट्रेन गुजरती है तो पैसेंजर अपनी खिड़कियां बंद कर लेते हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.