hindi

शीशे में देखिए माथा और पता कीजिए कैसा होगा आपका भविष्य, चुटकियों में चल जाएगा पता

0 36

ज्योतिष शास्त्र में हाथ की लकीरें देखकर लोगों के भविष्य के बारे में बताया जाता है. लेकिन व्यक्ति के माथे से भी उसके भविष्य के बारे में काफी कुछ पता चल सकता है. वैज्ञानिक दृष्टि से भी माथा, मानव के मस्तिष्क के सबसे करीब होता है. ऐसे में व्यक्ति के मस्तिष्क पर जो प्रभाव पड़ता है, वह उसके माथे पर परिलक्षित होता है. सामुद्रिक शास्त्र में यह बताया गया है कि व्यक्ति का माथा केवल व्यक्तित्व ही नहीं, बल्कि उसके भाग्य का भी सूचक होता है. ऐसी मान्यता है कि जब शिशु पैदा होता है तो छठवीं रात्रि में वेमाता उसके माथे पर उसका भाग्य लिखती हैं. 

जानिए माथे के प्रकार और उनके प्रभाव 

चौड़ा माथा- जिनका माथा चौड़ा होता है ऐसे लोग भाग्यशाली और आत्मविश्वास से भरपूर होते हैं. इन लोगों का चित्त उदार प्रवृत्ति का होता है. लेकिन यह लोग थोड़े अहंकारी भी होते हैं.

संकरा माथा- ऐसे लोग आत्मविश्वास में कमजोर और अंतर्मुखी होते हैं. इन लोगों को काफी संघर्ष और परेशानियां झेलनी पड़ती हैं.

आयताकार माथा- ऐसे लोग दिल के बुरे नहीं होते. लेकिन उनका व्यक्तित्व असंतुलित होता है. 

अंडाकार माथा- ऐसे लोग अंतर्मुखी स्वभाव के होते हैं और कल्पनाशील होते हैं. अपनी कल्पना का इस्तेमाल कर ये जीवन में काफी सफलता हासिल करते हैं तो.

नतोदर यानी बीच में दबा माथा- ऐसे लोगों को दुनियादारी की समझ बहुत ज्यादा होती है. यह लोग अपना काम निकलवाने में माहिर होते हैं. 

जानिए क्या कहती है माथे की लकीरें 

माथे पर बनने वाली रेखाएं भी हमारे भविष्य के बारे में बताती है. सामुद्रिक शास्त्र के मुताबिक, जिन के माथे पर सीधी, गहरी और स्पष्ट रेखाएं होती हैं ऐसे लोग प्रतिभा से भरपूर होते हैं और उन्हें अपने पसंदीदा क्षेत्र में सफलता मिलती है. जिनकी माथे की रेखाएं टूटी-फूटी और उथली हुई होती है ऐसे लोग संशय के चलते कोई निर्णय नहीं ले पाते और अपने काम पर भी फोकस नहीं कर पाते हैं. 

अगर माथे पर खड़ी रेखाएं होती हैं तो ऐसे लोग असाधारण प्रतिभा युक्त होते हैं और दैवीय शक्तियों वाले होते हैं. जिन लोगों के माथे पर रेखाएं त्रिशूल बनाती हैं, ऐसे लोग परालौकिक शक्ति से संपन्न होते हैं और किसी महान आत्मा का पुनर्जन्म होते हैं.

 

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.