hindi

स्विस बैंक के ये राज नहीं जान सकता कोई, जानिए यहां क्यों खाता खुलवाते हैं लोग?

0 8

भारतीय बैंकों के साथ-साथ भारत में स्विट्जरलैंड के बैंकों की भी खूब चर्चा होती है. अक्सर ऐसी खबरें आती रहती है कि हमारे देश की नामचीन हस्तियों और रईसों ने स्विट्जरलैंड के बैंकों में पैसा जमा कर रखा है. इन्हें स्विस बैंक कहा जाता है. गुरुवार को स्विट्जरलैंड के केंद्रीय बैंक ने एक डाटा जारी किया, जिसमें यह पता चला कि साल 2020 में स्विस बैंकों में भारतीयों का पैसा बढ़कर 20,700 करोड़ से ज्यादा हो गया, जो 2019 के अंत में 6625 करोड़ रुपए था.

पिछले 13 सालों में स्विस बैंक में भारतीयों के पैसों में बहुत ज्यादा बढ़ोतरी हुई है. लेकिन आपके मन में भी यह सवाल आता होगा कि आखिर लोग स्विस बैंकों में पैसा जमा क्यों करवाते हैं. गली-मोहल्ले के लोगों को आपने यह कहते हुए भी सुना होगा कि ब्लैक मनी को छुपाने के लिए लोग स्विस बैंक में पैसा जमा करवाते हैं. आज हम आपको स्विस बैंकों के कुछ सीक्रेट बताने जा रहे हैं. 

स्विस बैंकों में पैसा सबसे ज्यादा सुरक्षित माना जाता है. यहां की प्राइवेसी पॉलिसी भी पूरी दुनिया से अलग है. 1934 के बैंकिंग लॉ की वजह से किसी ग्राहक की पहचान का सार्वजनिक करना एक अपराध है. बैंक किसी भी ग्राहक की जानकारी नहीं देते हैं. यह जानकारी बैंक के पास ही रहती है. जब भी आप स्विट्जरलैंड के बैंकों में पैसा जमा करेंगे तो आपसे यह नहीं पूछा जाएगा कि यह पैसा कहां से आया है. यहां आप बिना किसी भी झंझट के लाखों रुपए जमा कर सकते हैं. 

इसी वजह से ऐसा माना जाता है कि वहां काला धन ही रखा जाता है, क्योंकि बिना किसी रिसोर्स के कोई भी वहां पैसा जमा कर सकता है. इतना ही नहीं स्विट्जरलैंड के बैंकों में खाता संख्या पर ही डील होती है. बैंक को आपके नाम, पते या व्यवसाय आदि के बारे में कोई भी जानकारी नहीं होती है. यहां 18 साल से ऊपर का कोई भी व्यक्ति जिसके पास वैध पासपोर्ट है, अपना खाता खुलवा सकता है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.