hindi

क्या सच में टूथपेस्ट पर बने लाल, पीले, नीले निशान बताते हैं टूथपेस्ट की क्वालिटी, जानिए यह क्यों बनाए जाते हैं ?

0 18

आप जब टूथपेस्ट खरीदते होंगे तो उसे पहले कई चीजें चेक करते होंगे. अगर आपने कभी गौर किया हो तो टूथपेस्ट की ट्यूब के निचले हिस्से में एक मार्क बना होता है, जो टूथपेस्ट से अलग रंग का होता है. यह मार्क क्यों होता है. क्या आपने कभी सोचा है. यह मार्क लाल, नीले, हरे रंग के चौकोर आकार के होते हैं. इंटरनेट पर इस तरह के मार्क को लेकर कई तरह के दावे किए गए हैं. लेकिन यह सारे दावे सही नहीं हैं.

इंटरनेट पर कई रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि यह मार्क टूथपेस्ट में मिलाए गए तत्वों के बारे में बताते हैं. जैसे मान लीजिए अगर टूथपेस्ट पर ब्लैक मार्क है तो इसका मतलब है, यह टूथपेस्ट केमिकल से बना है. लाल मार्क का मतलब है, यह नेचुरल और केमिकल से बना टूथपेस्ट है और ग्रीन मार्क का मतलब है, यह पूरी तरह से नेचुरल चीजों से बना है. लेकिन ऐसा नहीं है.

क्या है सच्चाई ?

कोलगेट की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, इस मार्क का क्वालिटी से कोई संबंध नहीं है. इंटरनेट पर किए गए यह सारे दावे झूठे हैं. इस मार्क को इसलिए बनाया जाता है, ताकि यह पता चल सके कि ट्यूब की कटिंग  कहां से करनी है और ट्यूब को सील कहां से करना है. इससे ट्यूब बनाने की फैक्ट्री में लगी मशीनों में आसानी से काम हो जाता है. ट्यूब बनाने वाली मशीन के लाइट सेंसर इस मार्क को पहचान लेते हैं और ट्यूब उसी हिसाब से बनाते हैं. इसका क्वालिटी से कोई संबंध नहीं है. टूथपेस्ट के पीछे सारी जानकारी दर्ज होती है कि इसे बनाने में किन तत्वों का इस्तेमाल किया गया है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.