hindi

90 फीसदी लोग जागने के बाद क्यों भूल जाते हैं सपने, जानिए कारण

0 26

सोते समय अक्सर हम सपने देखते हैं. सपने में हमें कई बार ऐसे दृश्य दिखाई दे जाते हैं, जिनका हमारी जिंदगी से कोई संबंध नहीं होता. ज्यादातर लोग जागने के बाद अपने सपने भूल जाते हैं. लेकिन हम अपने सपने जागने के बाद क्यों भूल जाते हैं. आज हम आपको बताते हैं. 

सोने के दौरान रैपिड आई मूवमेंट से गुजरते हैं हम

वैज्ञानिकों ने सपनों को लेकर तमाम रिसर्च और स्टडी की है. वैज्ञानिकों के मुताबिक, जब हम सोते हैं तो कई बार रैपिड आई मूवमेंट से गुजरते हैं. यह मूवमेंट सोने के 10 मिनट बाद ही शुरू हो जाता है. सोते वक्त REM के दौरान हमारा दिमाग कुछ समय एक्टिव मोड में रहता है. हमारे दिमाग में कुछ ना कुछ चीजें चल रही होती हैं, जिस वजह से हमें सपने दिखाई देते हैं. रात में सोने के बाद हर डेढ़ घंटे के अंतराल में हम REM में होते हैं और यह अवधि लगभग 20 से 25 मिनट की होती है.

अमेरिका के हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में नींद को लेकर स्टडी करने वाले रॉबर्ट स्टिकगोल्ड ने बताया कि हम लोग सपने में देखे गए दृश्यों को अक्सर भूल जाते हैं और कुछ सपने उन्हें याद रह जाते हैं. रॉबर्ट स्टिकगोल्ड के मुताबिक, जब लोग एक निश्चित समय पर सोते हैं तो अलार्म बजने के बाद तुरंत उठकर ऑफिस जाने की तैयारी में लग जाते हैं. ऐसे में लोगों को सपने में क्या दिखा, यह याद रहने की संभावना बहुत कम हो जाती है. वहीं जो लोग नींद खुलने के बाद भी काफी देर तक आंखें बंद किए रहते हैं, उन्हें अपने सपने याद रहते हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.