hindi

WTC फाइनल के बीच पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने साधा अश्विन पर निशाना, बोले- विदेश में मैच जिताकर दिखाएं

0 24

भारत और न्यूजीलैंड के बीच इंग्लैंड के साउथैंप्टन में आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला खेला जा रहा है, जिसको 4 दिन गुजर चुके हैं और रिजर्व डे को मिलाकर अब सिर्फ दो ही दिन का खेल रह गया है. 2 दिनों में ही इस मुकाबले का नतीजा निकल सकता है और पता चलेगा कि टेस्ट क्रिकेट के विजेता कौन होगा. न्यूजीलैंड और भारत दोनों ही विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के खिताब पर कब्जा करना चाहते हैं. लेकिन अभी तक टीम इंडिया की गेंदबाजी को देखते हुए ऐसा कह पाना मुश्किल है कि मुकाबला भारत के पक्ष में होगा, अभी तक यह मुकाबला न्यूजीलैंड के पक्ष में जाता हुआ नजर आ रहा है.

यदि टीम इंडिया को मैच जीतना है तो एक शानदार स्पैल डालना होगा. इस काम के लिए पूर्व भारतीय क्रिकेटर और मशहूर कमेंटेटर संजय मांजरेकर ने स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को चुना है और कहा है कि भारतीय ऑफ स्पिनर के लिए ये बड़ा मौका है, जब उन्हें देश से बाहर मैच जिताऊ गेंदबाजी की जरूररत है. बता दें कि न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम इंडिया ने अपने दिग्गज स्पिनरों, अश्विन और रवींद्र जडेजा को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया. हालांकि दोनों को ही मैच में अपनी गेंदबाजी से कमाल दिखाने का मौका नहीं मिल पाया. क्योंकि दोनों ने कुछ ओवर डालें. इस दौरान अश्विन ने 1 विकेट भी हासिल किया, जो कि टीम इंडिया की इस मैच में पहली सफलता थी. ऐसे में सभी को अश्विन से इस मैच में और विकेट लेने की उम्मीद है.

इसी बीच संजय मांजरेकर ने विदेशी जमीन पर अश्विन की काबिलियत पर एक बार फिर से सवाल उठाया है. संजय मांजरेकर ने कहा कि उन्हें अब मैच जिताऊ स्पैल डालकर दिखाना ही होगा. मांजरेकर ने ईएसपीएन-क्रिकइंफो से बात करते हुए कहा- वह निश्चित तौर पर एक उच्च स्तर के गेंदबाज हैं, लेकिन मैं एक बार फिर कहूंगा कि वह भारत की घूमती पिचों पर एक जबरदस्त मैच विनर हैं. लेकिन विदेशों में, ये इंग्लैंड का तीसरा दौरा है, वह तीन बार ऑस्ट्रेलिया जा चुके हैं और दो बार दक्षिण अफ्रीका, और यहां उन्होंने एक लंबा असरदार स्पैल नहीं डाला है और भारत के लिए मैच नहीं जीता है. अब वक्त आ चुका है कि अश्विन ऐसा करके दिखाएं.

हालांकि इस दौरान संजय मांजरेकर ने अश्विन की तारीफ की और कहा जिस तरह साउथैंप्टन में तीसरे दिन उन्होंने टॉम लाथ को आउट किया, वह काफी अच्छा था. क्योंकि पिच से उन्हें किसी भी तरह की मदद नहीं मिल रही थी और उन्होंने पुराने अंदाज में बल्लेबाज को ड्राइव के लिए ललचा कर उसे फंसाया और अपना शिकार बनाया. कुछ दिनों पहले संजय मांजरेकर ने कहा था कि वह अश्विन को सर्वकालिक महान गेंदबाजों में से नहीं मानते, क्योंकि उन्होंने मुश्किल पिचों पर कोई प्रभावी प्रदर्शन आज तक नहीं किया है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.