hindi

विरोधी टीम की ओर से 5 खिलाड़ियों ने की फील्डिंग, साथी खिलाड़ी का कैच पकड़कर कराया मैच ड्रॉ, जाने किसने निभाई इस तरह दोस्ती

0 13

आपने क्रिकेट के मैदान पर कई बार देखा होगा, जब विरोधी टीम के खिलाड़ी दूसरे टीम की खिलाड़ियों की मदद करते हैं. लेकिन बहुत ही कम मौकों पर आपने ऐसा देखा होगा, जब कोई खिलाड़ी अपने ही साथी खिलाड़ी का कैच पकड़े. क्रिकेट में दोस्ती का यह कारनामा हुआ है, जिसे लोग आज भी याद रखते हैं. दरअसल यह घटना आज ही के दिन 17 जून 1963 को इंग्लिश काउंटी मैच के दौरान घटित हुई थी. यह मैच केंट और मिडिलसेक्स के बीच खेला गया था. इस मैच में अंपायरों के लिए भी निर्णय लेना बिल्कुल भी आसान नहीं था.

तीन दिवसीय मैच के पहले दिन 15 जून को कैंट की टीम ने पहली पारी मैं 150 रन बनाकर ऑल आउट हो गई. मिडिलसेक्स ने दिन का खेल खत्म होने पर 3 विकेट के नुकसान पर 121 रन बनाए. तब 16 जून को रविवार था और इंग्लैंड में रविवार को मैच नहीं खेला जाता था. ऐसे में मिडिलसेक्स के खिलाड़ी घूमने के लिए शहर से बाहर गए. लेकिन उन्हें कैंट के ट्रैफिक नियम को लेकर कोई जानकारी नहीं थी. 17 जून को वह मैच शुरू होने से पहले सुबह 11:30 बजे मैदान पर नहीं पहुंच पाए. कैंट के कुछ खिलाड़ी आसपास के थे. ऐसे में वह समय से मैदान पर आ गए.

मिडिलसेक्स की ओर से प्लेइंग इलेवन में 2 खिलाड़ी और 12 वां खिलाड़ी मैदान पर मौजूद था. ऐसे में उसके लिए बल्लेबाजी करना नामुमकिन था. ऐसे में टीम की पारी घोषित कर दी और 10 मिनट का ब्रेक दिया. केंट के 8 खिलाड़ी मिडिलसेक्स की ओर से फील्डिंग करने को तैयार हुए. लेकिन पारी शुरू होने से पहले टीम के 3 खिलाड़ी मैदान पर आ गए और अपने ही खिलाड़ी का कैच पकड़ा.

केंट के जॉन प्रॉडगर ने अपनी ही टीम के ओपनर बल्लेबाज लकसर्ट का स्लिप पर शानदार कैच पकड़ा. टीम के 5 खिलाड़ी मिडिलसेक्स की ओर से फील्डिंग करने उतरे. केंट ने 7 विकेट पर 341 रन बनाकर अपनी दूसरी पारी घोषित की. लक्ष्य का पीछा करते हुए मिडिलसेक्स ने तीन विकेट पर 82 रन बना लिए थे. मैच के तीसरे दिन बारिश के कारण खेल नहीं हो पाया और यह मैच ड्रॉ हो गया. लेकिन उस समय जिस तरह कैंट के खिलाड़ियों ने विरोधी टीम के खिलाड़ियों की सहायता की, उसे आज भी याद किया जाता है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.