hindi

दोस्त की जान बचाने के लिए माही ने भेजा था हेलीकॉप्टर, लेकिन किस्मत को कुछ और ही था मंजूर

0 26

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अपने हेलीकॉप्टर शॉट के लिए दुनिया भर में काफी मशहूर है. लेकिन बहुत ही कम लोगों को इस बारे में पता होगा कि माही के इस हेलीकॉप्टर के पीछे किसी और का हाथ है. धोनी की गिनती विश्व के सबसे बेहतरीन मैच फिनिशर में की जाती है. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि धोनी को हेलीकॉप्टर शॉट लगाना किसने सिखाया.

बता दें कि माही को उनके बचपन के दोस्त संतोष लाल ने हेलीकॉप्टर शॉट खेलना सिखाया था. धोनी और संतोष बचपन से ही साथ में क्रिकेट खेला करते थे. दोनों टेनिस बॉल क्रिकेट खेलते थे और राज्य की यात्रा भी करते थे. धोनी को संतोष की बल्लेबाजी देखने का बहुत शौक था. संतोष एक निर्भीक बल्लेबाज थे. उन्होंने ही माही को हेलीकॉप्टर शॉट खेलना सिखाया था. संतोष से हेलीकॉप्टर शॉट सीखने के लिए धोनी उन्हें गरमा गरम समोसा खिलाया करते थे. दोनों बचपन से ही अच्छे दोस्त थे. रेलवे में साथ में दोनों ने काम किया. जब पहली बार माही ने संतोष का यह शॉट देखा, तो उन्होंने उनसे उस शॉट के बारे में पूछा. संतोष ने इसे थप्पड़ शॉट बताया.

लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था. दोनों दोस्त साथ में लंबे समय तक क्रिकेट नहीं खेल सके. संतोष को अग्नाशय में सूजन की बीमारी थी. जब धोनी टीम इंडिया के साथ एक दौरे पर जाने वाले थे, तब उनके दोस्त संतोष की हालत काफी नाजुक थी. उस समय धोनी को उनकी हालत के बारे में पता चला तो धोनी ने संतोष को तुरंत रांची से दिल्ली ले जाने के लिए एंबुलेंस का इंतजाम किया था. लेकिन खराब मौसम के चलते हेलीकॉप्टर को वाराणसी में ही उतारना पड़ा. तब तक काफी देर हो चुकी थी और 32 साल की उम्र में ही धोनी के दोस्त संतोष दुनिया को अलविदा कह गए.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.