hindi

WTC फाइनल में सफल होने के लिए रोहित शर्मा को बनानी चाहिए कैसी रणनीति, पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने दिए यह खास टिप्स

0 10

भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग की गिनती क्रिकेट के उन बल्लेबाजों में की जाती है, जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में बल्लेबाजी की अवधारणा को ही बदल कर रख दिया. लेकिन वीरेंद्र सहवाग का मानना था कि जब आप इंग्लैंड में खेल रहे हैं, तो आपको नई गेंद का सम्मान करना चाहिए. 2002 में जब भारतीय टीम इंग्लैंड दौरे पर गई थी, वहां नॉटिंघम में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में सहवाग की बल्लेबाजी की कड़ी परीक्षा हुई थी और उस मैच में सहवाग ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए 183 गेंदों पर 106 रनों की पारी खेली थी.

वर्तमान में भारतीय टीम इंग्लैंड में है और उसे 18 जून से न्यूजीलैंड के खिलाफ डब्ल्यूटीसी का फाइनल मुकाबला खेलना है. इसके बाद टीम इंडिया इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज खेलेगी. इन मैचों के लिए सहवाग का मानना है कि भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा को पारी की शुरुआत में सावधानी बरतने की आवश्यकता है. वीरेंद्र सहवाग ने एनआईए बात करते हुए कहा- रोहित शर्मा को अपनी बल्लेबाजी के दौरान किस तरह का अप्रोच रखना चाहिए.

सहवाग ने कहा- जब मैंने इंग्लैंड में पहली बार ओपनिंग की थी, तब मैं ज्यादा आक्रामक नहीं था. वहां की स्विंग कंडीशन की वजह से मैंने अपना शतक 150-160 गेंदों में पूरा किया और आपको वहां की कंडीशन और नई गेंद का सम्मान करना ही होगा. यदि आप वहां सफल होना चाहते हैं. अगर आप फ्लैट ट्रैक या फिर ग्रासी विकेट पर खेलते हैं तो दोनों में काफी अंतर होता है। इंग्लैंड में काफी कुछ कंडीशन पर निर्भर करता है। अगर बादल रहे तो गेंद से कुछ भी हो सकता है, लेकिन धूप रही तो बल्लेबाजी करना आसान होगा.

वहीं रोहित शर्मा को सलाह देते हुए सहवाग ने कहा- इंग्लैंड की कंडीशन का उन्हें सम्मान करना चाहिए और खराब गेंद का इंतजार करना चाहिए. उन्होंने इंग्लैंड में काफी क्रिकेट खेला है और उनके पास अनुभव की कोई कमी नहीं है. उन्हें पता है कि, क्या करने की जरूरत है. लेकिन मेरी सलाह है कि नई गेंद का सम्मान करें और खराब गेंद का इंतजार करें. 5 से 10 ओवर बल्लेबाजी करने के बाद वो सेट हो जाएं उसके बाद उनके लिए आक्रामक क्रिकेट खेलना वहां आसान हो जाएगा.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.