hindi

दिनेश कार्तिक का बड़ा बयान, बोले- मैं भाग्यशाली हूं, जो 130 करोड़ में से सिर्फ 302 लोगों को मिला टेस्ट में खेलने का मौका

0 7

दिनेश कार्तिक टीम इंडिया के बेहतरीन विकेटकीपर बल्लेबाजों में से एक है. दिनेश कार्तिक ने साल 2004 से 2018 के बीच टीम इंडिया के लिए 26 टेस्ट मैच खेले. 15-16 सालों के अंतरराष्ट्रीय करियर में दिनेश कार्तिक ने भले ही कम टेस्ट मैच खेले, लेकिन फिर भी वह खुश है. दिनेश कार्तिक का कहना है कि भारत की तरफ से टेस्ट मैच खेलने का सम्मान बहुत ही कम लोगों को मिला है. उनके लिए यह एक बड़ी उपलब्धि है. 2004 में दिनेश कार्तिक ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मुंब में डेब्यू मैच खेला था और उन्होंने 2018 में लॉर्ड्स के मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ अपना आखिरी टेस्ट मैच खेला था.

26 टेस्ट मैचों में दिनेश कार्तिक ने 25 की औसत से 1 शतक की सहायता से 1025 रन बनाए. क्रिकेटनेक्स्ट से बातचीत के दौरान दिनेश कार्तिक ने अपने टेस्ट करियर के बारे में कहा- मैं भाग्यशाली हूं कि 130 करोड़ लोगों के देश में केवल302 टेस्ट क्रिकेटरों में से एक हूं. मेरा कैरियर जिस तरह से आगे बढ़ा, उसे मैं बहुत खुश हूं. मैं हमेशा ऐसा व्यक्ति रहा हूं, जो संतुष्ट रहता हूं. इस खेल का मैंने काफी लुफ्त उठाया है. क्योंकि भारत में जहां की आबादी करोड़ों में है, वहां सिर्फ 302 लोगों ने देश के लिए टेस्ट खेला है. और इसका हिस्सा बनना वाकई कुछ खास है. मैं सच में खुश हूं.

क्रिकेट खेलकर खुश होने के लिए बहुत सी चीजें हैं. अपने करियर की शुरुआत में मैं केवल अपने देश के लिए एक मैच खेलना चाहता था. इंडिया ब्लूज पहने हुए मेरे लिए यह एक शानदार यात्रा रही है.आगे दिनेश कार्तिक ने बताया- जैसा कि मैंने कहा 15-16 वर्षों के लंबे सफर में मेरे पास अपने बारे में खुश होने के कई कारण है. मैंने वह सब कुछ किया जो मैं कर सकता था. कभी-कभी यह चीजें काम करती है, कभी कभी नहीं. महत्वपूर्ण बात यह है कि जब आप अपने बिस्तर पर लेटते हैं, तो आपको यह जानकर अच्छी नींद आनी चाहिए कि आपने इसे सब कुछ दिया है. और मैं गर्व से कह सकता हूं कि मैंने निश्चित रूप से ऐसा किया है.

बता दें कि दिनेश कार्तिक को पूरी उम्मीद है कि वो 2021 और 2022 में होने वाले T20 वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया में वापसी कर सकते हैं. इस बारे में बात करते हुए दिनेश कार्तिक ने कहा- वे उम्र नहीं बल्कि यह देखते हैं कि आप कितने फिट हैं. यदि आप फिटनेस टेस्ट पास कर लेते हैं तो इसका अर्थ है कि आप देश के लिए खेल सकते हैं. मेरा लक्ष्य T20 वर्ल्ड कप में देश के लिए खेलना है. इस साल और अगले साल बैक-टू-बैक टी 20 विश्व कप हैं और मैं इसका हिस्सा बनने के लिए जो कुछ भी कर सकता हूं वह कर रहा हूं

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.