hindi

जब बीच मैंच के दौरान धोनी की जगह कोहली ने की विकेटकीपिंग, इसके पीछे की वजह जानकर आप भी नहीं रोक पाएंगे अपनी हंसी

0 8

क्रिकेट के खेल में बल्लेबाजी और गेंदबाजी तो हर कोई कर सकता है. लेकिन विकेटकीपिंग करना किसी के लिए भी बिल्कुल आसान नहीं है. लेकिन कई बार मैदान पर ऐसा देखने को मिला है कि मजबूरी के चलते किसी दूसरे खिलाड़ी को विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी सौंपी पड़ती है. ऐसा ही कुछ वाक्य एक बार टीम इंडिया के साथ भी हुआ था. जब टीम इंडिया के रेगुलर विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी की जगह विराट कोहली ने विकेटकीपिंग की थी. यह काफी मजेदार किस्सा है.

दरअसल इस मैच के दौरान धोनी को अचानक नेचर कॉल की वजह से मैदान से बाहर जाना पड़ा था. तब धोनी की गैरमौजूदगी में विराट कोहली ने 1 ओवर तक विकेट कीपिंग की थी. उस मैच के दौरान बीच में धोनी को अचानक टॉयलेट जाने के कारण ब्रेक लेना पड़ा और धोनी ने विराट को विकेटकीपिंग ग्लव्स थमाए और मैदान से बाहर चले गए. उस समय मैदान पर बाहर से विकेटकीपर लाने की अनुमति नहीं थी. इसी वजह से धोनी की जगह आउटफील्ड में एक खिलाड़ी फील्डिंग के लिए आया और विराट ने विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी संभाली.

यह घटना बांग्लादेश की पारी के 44वें ओवर के दौरान हुई थी. हालांकि एक ओवर बाद ही महेंद्र सिंह धोनी मैदान पर वापस आ गए थे. इस घटना के बारे में हाल ही में कोहली के साथी क्रिकेटर मयंक अग्रवाल ने जिक्र करते हुए बताया- विकेटकीपर के लिए यह खेल कितना मुश्किल होता है. कोहली ने मयंक से कहा था कि माही भाई से पूछना यह कैसे हुआ. तब उन्होंने मुझे कहा था कि दो-तीन ओवर विकेटकीपिंग करनी है. मैंने विकेटकीपिंग के साथ ही फील्ड प्लेसमेंट की भी जिम्मेदारी संभाली थी.

जब वो फील्ड में होते हैं, तो उन्हें हर बॉल पर ध्यान देना होता है और फील्डिंग भी सेट करनी होती. हालांकि, मुझे तब काफी मजा आया था. लेकिन उन्हें गेंद मुंह पर लगने का डर भी सता रहा था. आगे विराट कोहली ने मयंक अग्रवाल को बताया था कि उस समय एक परेशानी थी कि उमेश यादव गेंदबाजी कर रहे थे. मुझे डर लग रहा था कि उनकी गेंदे मेरे मुंह पर ना लग जाए. तब मैं हेलमेट नहीं पहनता था. क्योंकि मुझे लग रहा था कि अगर ऐसा करूंगा तो मेरी बेइज्जती हो जाएगी.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.