hindi

ICC ने डीआरएस समेत तीन बड़े नियमों में किया बदलाव, पड़ेगा WTC फाइनल पर असर

0 5

आईसीसी ने क्रिकेट के नियमों में बड़ा बदलाव किया है. यह सभी नियम वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल से लागू हो जाएंगे. 18 जून से साउथैम्प्टन के रोज बाउल स्टेडियम में में भारत और न्यूजीलैंड का आमना-सामना होगा. बता दें कि इस मैच के लिए रिजर्व डे रखा गया है. आईसीसी का कहना है कि यदि मैच ड्रॉ या टाई होता है, तो दोनों टीमों को संयुक्त विजेता घोषित किया जाएगा.

आईसीसी के नियम के मुताबिक रिजर्व डे पर फैसला रेफरी द्वारा किया जाएगा. इस संबंध में समस्या होने पर दोनों टीमों को और मीडिया को जानकारी दी जाएगी और फिर वे बताएंगे कि किस तरह रिजर्व डे का इस्तेमाल किया जा सकता है. रिजर्व डे होगा या नहीं, यह फैसला मैच रेफरी खेल के पांचवे और अंतिम दिन खत्म होने से 1 घंटे पहले बताएंगे. जबकि डीआरएस लेने से पहले पेबैट्समैन या फील्डिंग कैप्टन अंपायर से यह पूछ सकेंगे कि क्या बल्लेबाज ने गेंद को खेलने की सही कोशिश की थी या नहीं. इससे रिव्यू लेने में आसानी होगी और रिव्यू भी बर्बाद नहीं जाएगा.

पहले केवल विकेट की ऊंचाई देखी जाती थी, जिसमें अब आधा इंच बेल्स को भी शामिल कर लिया है. यानि की 28 इंच विकेट के और आधा इंच बेल्स के. यदि बेल्स होने के बाद भी बॉल 50 प्रतिशत हिस्सा बेल्स के सबसे ऊपरी हिस्से को मिस कर रहा होगा, तो बल्लेबाज नॉटआउट दिया जाएगा. पहले के नियम में बेल्स के निचले हिस्से तक की ऊंचाई को नापा जाता जाता था. पहले अगर बॉल का 50 प्रतिशत हिस्सा बेल्स के सबसे निचले हिस्से को छू रहा है, तो अंपायर्स कॉल होता था. लेकिन अब बेल्स तक की ऊंचाई को नापा जाएगा.

आईसीसी का तीसरा तीसरा बदलाव शॉर्ट रन को लेकर किया गया है. अब शॉर्ट रन का फैसला थर्ड एंपायर द्वारा किया जाएगा. वो रीप्ले को देखकर इसकी समीक्षा करेंगे और अगली गेंद डालने से पहले इसे सही करने की कोशिश करेंगे.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.