hindi

आज ही के दिन भारत के दो दिग्गजों द्रविड़-गांगुली ने रचा था इतिहास, वनडे में पहली बार बनाई थीं 300 रनों से ज्यादा की साझेदारी

0 10

भारतीय क्रिकेट टीम के दो दिग्गज क्रिकेटरों राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली की जोड़ी लोगों को काफी पसंद आती थीं. इन दोनों ही क्रिकेटरों ने मैदान पर विरोधी टीमों को जमकर धोया. आज से 22 साल पहले 1999 के विश्व कप में राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली ने श्रीलंका के विरुद्ध टॉटन के मैदान पर दूसरे विकेट के लिए 318 रनों की रिकॉर्ड साझेदारी निभाई थी. वनडे क्रिकेट के इतिहास में यह किसी भी विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी थी. वर्ल्डकप के ग्रुप स्टेज के पहले दो मुकाबलों में टीम इंडिया को दक्षिण अफ्रीका और जिंबाब्वे के हाथों हार झेलनी पड़ी थी. विश्व कप के तीसरे मुकाबले में श्रीलंका और भारत का आमना-सामना हुआ.

श्रीलंका के कप्तान अर्जुन रणतुंगा ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया. पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही. पहले ही ओवर में सदगोपाल रमेश 5 रन बनाकर आउट हो गए. इसके बाद सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ ने बल्लेबाजी की. गांगुली ने 198 गेंदों में 17 चौकों और 7 छक्कों की मदद से 183 रनों की पारी खेली, जो कि सौरव गांगुली की अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट में सबसे बड़ी पारी रही. वही दूसरे छोर पर राहुल द्रविड़ ने भी 129 गेंदों में 145 रन बनाए. इस दौरान उन्होंने 17 चौके और एक छक्का भी लगाया. द्रविड़ और गांगुली के बीच दूसरे विकेट के लिए रिकॉर्ड 318 रनों की साझेदारी हुई थी.

द्रविड़ और गांगुली की पारियों की बदौलत भारतीय टीम ने 50 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर 373 रन बनाए. लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंका की टीम 216 रनों पर ऑल आउट हो गई और भारतीय टीम ने 157 रनों के बड़े अंतर से जीत हासिल की. हालांकि द्रविड़ और गांगुली का रिकॉर्ड ज्यादा लंबे समय तक नहीं टिक सका. 6 महीने बाद ही राहुल द्रविड़ ने सचिन तेंदुलकर के साथ मिलकर न्यूजीलैंड के खिलाफ हैदराबाद में 331 रनों की साझेदारी निभाई और उस रिकॉर्ड तोड़ दिया. बता दें कि अब तक वनडे क्रिकेट में 5 बार ही किसी भी विकेट के लिए 300 से ज्यादा रनों की साझेदारी हुई है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.