hindi

जानें कितने CC का होता है रेल का इंजन, ट्रेन के एक इंजन में होती है 116 होंडा सिटी कारों जितनी ताकत

0 18

रेलवे लोकोमोटिव बहुत भारी मशीनरी होती है. क्योंकि ट्रेन के इंजन को कई बोगियां खींचनी पड़ती हैं. सामान्य तौर पर एक डीजल लोकोमोटिव में 16 सिलेंडर होते हैं. एक सिलेंडर में 150 लीटर के आसपास डीजल इस्तेमाल होता है. अगर इसकी तुलना कार से करें तो कार के इंजन में सामान्यतः 4 सिलेंडर होते हैं और 1 सिलेंडर में 1 या 2 लीटर तेल का इस्तेमाल होता है. 

ट्रेन में सिलेंडर बहुत बड़े होते हैं. ट्रेन के डीजल फ्यूल टैंक में 50,000 लीटर तेल आ सकता है. मौजूदा समय में ट्रेन के इंजन में 16 सिलेंडर का इस्तेमाल किया जा रहा है. एक सिलेंडर की क्षमता 10941 सीसी की होती है. अगर 16 का गुणा 10941 करें तो ट्रेन के इंजन की कुल क्षमता लगभग 1.75 लाख सीसी होती है. यानी अगर इसकी तुलना होंडा सिटी के इंजन से की जाए तो अकेले एक इंजन की ताकत लगभग 116 कारों के बराबर है, क्योंकि होंडा सिटी का इंजन 1498 सीसी का होता है.

लेकिन आपको बता दें कि ट्रेन के बड़े इंजन की क्षमता को सीसी में नहीं बल्कि लीटर में व्यक्त करते हैं. 1 लीटर का मतलब 1000cc होता है. इंजन में सुपरचार्जर भी होते हैं जिनका वजन 20 टन के आसपास हो सकता है और इसकी कीमत लगभग 10 करोड़ रुपये तक हो सकती है. ट्रेन के इंजन बहुत बड़े होते हैं, जिनमें 16 सिलेंडर्स, 32 वाल्व और 1 लाख से लेकर डेढ़ लाख सीसी तक का डिसप्लेसमेंट होता है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.