hindi

10 साल पुराने विवाद को लेकर इयान बेल ने तोड़ी अपनी चुप्पी, बोले- गलती मेरी थी, माही बेकसूर थे

0 16

साल 2011 में इंग्लैंड और भारत के बीच नॉटिंघम में खेले गए तीसरे मैच के दौरान इयान बेल के रन आउट को लेकर काफी विवाद खड़ा हो गया था. इंग्लैंड के खिलाफ मैच में टीम इंडिया की कप्तानी महेंद्र सिंह धोनी कर रहे थे. उस समय बेल को अजीब तरीके से रन आउट होने के बाद वापस मैदान पर बुलाया गया था. 10 साल बाद उस घटना को लेकर इयान बेल ने बड़ा बयान दिया है.

एक यूट्यूब चैनल पर इयान बेल ने कहा- यह मेरी गलती थी और मुझे पवेलियन की तरफ नहीं जाना चाहिए था. निश्चित रूप से धोनी को इसके लिए खेल भावना के लिए दशक का अवॉर्ड जैसा सम्मान दिया गया था. लेकिन गलती मेरी थी और मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए था.

क्या था पूरा मामला

जुलाई 2011 में भारत और इंग्लैंड के बीच नॉटिंघम में खेले गए तीसरे मैच के दौरान यान बेल के रन आउट को लेकर काफी विवाद खड़ा हो गया था. तीसरे दिन के खेल के दौरान देर बेल क्रीज पर थे. टी ब्रेक से पहले आखिरी गेंद पर मोर्गन ने शॉट खेला. मोर्गन के साथ बल्लेबाजी कर रहे बेल इसे चौका समझ बैठे. गलतफहमी में इयान बेल अपनी क्रीज छोड़कर मोर्गन से बात करने लगे. लेकिन गेंद बाउंड्री लाइन से पहले ही प्रवीण कुमार ने पकड़कर अभिनव मुकुंद की तरफ थ्रो कर दी.

मुकुंद ने गिल्लियां बिखेर दी. जिसके बाद टीम इंडिया ने थर्ड अंपायर से इयान बेल के रनआउट को लेकर अपील की. अंपायर ने इयान बेल को रनआउट दे दिया और दर्शकों ने इसे खेल भावना के विपरीत फैसला मानते हुए टीम इंडिया की हूटिंग शुरू कर दी. टी ब्रेक के दौरान इंग्लिश टीम के कप्तान एंड्रयू स्ट्रॉस और कोच एंडी फ्लावर भारतीय कप्तान धोनी से मिले और बेल के रन आउट मामले पर बातचीत की. इसके बाद धोनी ने खेल भावना दिखाते हुए इयान बेल को रन आउट करने की अपील वापस ली.

टी ब्रेक समाप्त होने के बाद बेल दोबारा बल्लेबाजी करने मैदान पर लौटे. लेकिन बेल 22 रन बनाकर युवराज सिंह का शिकार बने और 159 रन पर पवेलियन लौट गए. आईसीसी के नियमों के मुताबिक इयान बेल क्रीज के बाहर थे और उन्हें थर्ड अंपायर ने रनआउट दिया था. बेल चौका जाने की गलतफहमी में थे, इसी वजह से वह क्रीज पर नहीं लौटे. धोनी के फैसले के कारण 10 साल बाद उन्हें दशक का स्पिरिट ऑफ क्रिकेट आफ द डिकेड अवार्ड से सम्मानित किया गया था.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.