hindi

बायो बबल में MI के कुछ सीनियर भारतीय खिलाड़ियों को पसंद नहीं थी रोक-टोक, फील्डिंग कोच का बड़ा खुलासा

0 17

आईपीएल में कोरोना वायरस की एंट्री होने के बाद इसे अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया गया. लेकिन इसी बीच एक बड़ी खबर आ रही है मुंबई इंडियंस के कोच जेम्स पेमेंट ने दावा किया है कि भारत के कुछ सीनियर क्रिकेटरों को बायो-बबल के रोक-टोक करना पसंद नहीं था. जेम्स पेमेंट ने कहा- बायो- बबल तक पूरी तरह से सुरक्षित था. जब तक कि खिलाड़ियों के संक्रमित होने के मामले सामने नहीं आए थे. हालांकि कोच ने किसी भी खिलाड़ी का नाम नहीं लिया.

जेम्स ने कहा- हम बायो बबल में सुरक्षित थे और हमें नहीं लगा कि बायो बबल से कोई कॉम्प्रोमाइज होगा. हमें लगा कि यात्रा हमेशा एक चुनौती होगी. ये तब था जब टीमों में केस आने शुरू हो गए थे. वे थोड़ा अधिक भयभीत थे, थोड़ा अधिक आशंकित थे. पेमेंट ने कहा कि उन्हें ऐसा नहीं लगा कि होटल में टीम के बनाए बायो बबल में उनका स्वास्थ्य खतरे में पड़ने वाला है. यह एक अत्यंत सुरक्षित बायो बबल था.

आगे पेमेंट ने कहा- चेन्नई ने अपने कोरोना केस के बारे में घोषणा की और हमने सप्ताहांत में चेन्नई के मैच खेला. इसलिए डायनेमिक बदल गया. मैंने निश्चित रूप से अपने ग्रुप के भीतर देखा. मैंने सोचा कि अपना अधिकांश समय किवी और ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के साथ बिताऊंगा लेकिन मानसिकता बदल गई थी. भारत में कई लोग ऐसे थे जिन्होंने अपनो को खोया था और हम उनसे सीखते थे. ये लोग नहीं चाहते थे कि आईपीएल चाहते जारी रहे लेकिन हम प्रोफेशनल तरीके से अपनी सेवाएं दे रहे थे.

कोच जेम्स पेमेंट के मुताबिक- आईपीएल के निलंबित होने से बहुत पहले ही उन्हें भारत में महामारी के बारे में पता था और यह 6 स्थानों पर नहीं होना चाहिए था. साथ में उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैचों के लिए अहमदाबाद में 70,000 दर्शकों को अनुमति देना थोड़ा गैर जिम्मेदाराना बताया. अब अहमदाबाद कोविड का एक हॉट-स्पॉट है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.