hindi

2007 के टी-20 विश्व कप फाइनल को लेकर सहवाग का बड़ा बयान, बोले- धोनी की जगह अगर मैं होता कप्तान तो

0 18

2007 का टी-20 विश्व कप तो आप सभी को याद ही होगा. 2007 के टी-20 विश्व कप में युवराज सिंह ने इंग्लिश गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर में छह छक्के लगाए थे. भारतीय टीम के पूर्व ओपनर बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने एक बार फिर से टी-20 वर्ल्ड कप 2007 की खिताबी जीत को फिर से ताजा किया है. साथ ही उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी को लेकर भी बड़ा बयान दिया है. वीरेंद्र सहवाग का कहना है कि धोनी की जगह यदि वे 2007 के टी-20 विश्व कप फाइनल में टीम इंडिया के कप्तान होते तो टीम कभी भी वर्ल्ड चैंपियन नहीं बन पाती.

क्रिकबज के एक शो में सहवाग ने कहा- धोनी जैसा कप्तान बहुत ही मुश्किल से मिलता है. 2007 टी-20 विश्व कप फाइनल में यदि में टीम का कप्तान होता तो आखिरी ओवर में हरभजन सिंह को गेंदबाजी देता. लेकिन धोनी ने ऐसा नहीं किया और किस्मत ने भी उनका साथ दिया. आगे सहवाग ने कहा- धोनी का लक उनका साथ देता है, वो इसलिए नहीं, कि वह लकी है. बल्कि इसलिए क्योंकि वो फैसले ऐसे लेते हैं जिनमें लक उनका साथ दें.

सहवाग ने यह भी माना कि भारत को धोनी जैसा कप्तान मिल पाना बहुत ही मुश्किल है और ना ही आईपीएल में चेन्नई की टीम को उनके जैसा लीडर मिल सकता है. इस शो पर सहवाग ने धोनी की एक और खासियत का खुलासा करते हुए बताया कि धोनी की कप्तानी में गेंदबाज अपना बेस्ट प्रदर्शन करते हैं. धोनी विकेट के पीछे से लगातार गेंदबाजों को सलाह देते रहते हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.