hindi

भयानक गर्मी में भी मटके का पानी हो जाता है फ्रिज जैसा ठंडा, जानिए क्या हैं इसके फायदे

0 17

गर्मी का मौसम आते ही लोग ठंडा पानी पीना शुरू कर देते हैं. पानी ठंडा करने के लिए लोग फ्रीज का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन आज भी गांव में लोग ठंडे पानी के लिए मटके का इस्तेमाल करते हैं. मटके का पानी पीने में बहुत स्वादिष्ट लगता है और इसके कई फायदे होते हैं. साथ ही इससे बीमारियां भी नहीं होती हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि मटके का पानी बिना किसी मशीन के ठंडा कैसे हो जाता है.

कैसे ठंडा हो जाता है मटके का पानी

मटके में रखा पानी वाष्पीकरण की प्रक्रिया के चलते ठंडा होता है. जितना ज्यादा वाष्पीकरण होता है, पानी भी उतना ज्यादा ठंडा होता है. मिट्टी के बर्तन में धातु के बर्तन की अपेक्षा वाष्पीकरण ज्यादा होता है, क्योंकि इसमें छोटे-छोटे छेद होते हैं जिनसे बाहर पानी निकलता है और गर्मी की वजह से भाप बनकर उड़ जाता है. मटके के अंदर का तापमान कम रहता है और यह वाष्पीकरण की प्रक्रिया की वजह से होता है. इसी वजह से मटके के अंदर का पानी ठंडा हो जाता है. मटके का ठंडा पानी सेहत के लिए भी नुकसानदायक नहीं होता.
 
क्या है मटके के पानी के फायदे

मटके का पानी पीने से कई फायदे होते हैं. इससे इम्यूनिटी मजबूत होती है और शरीर को रोगों से लड़ने की ताकत मिलती है. इसके साथ ही यह टेस्टोस्टरॉन के स्तर को बढ़ाता है जिससे एसिडिटी जैसी समस्याएं दूर होने के साथ ही गले में भी आराम मिलता है. मटके का पानी गले पर सूदिंग इफेक्ट देता है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.