hindi

सबसे ज्यादा अंक लाकर भी WTC के फाइनल से बाहर हो सकती है टीम इंडिया, जाने कैसे

0 12

आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की शुरुआत अगस्त 2019 में हुई थी, जिसमें 9 टीमों को शामिल किया गया. सभी टीमों को 6-6 सीरीज खेलनी थीं और हर सीरीज के लिए 120 अंक निर्धारित किए गए थे. लेकिन कोरोना वायरस महामारी की वजह से आईसीसी ने WTC के नियम बदल दिए और अंकों के नहीं, बल्कि औसत अंक से फाइनलिस्ट टीम का फैसला करने का निर्णय लिया.

नए नियमों के आधार पर न्यूजीलैंड की टीम पहले ही डब्लूटीसी के फाइनल में पहुंच चुकी है. भारतीय टीम के फाइनल में जगह बनाने की बहुत ज्यादा संभावना है. अगर अंको की बात करें तो भारतीय टीम 490 अंकों के साथ टॉप पर है. जबकि इंग्लैंड के 442 और न्यूजीलैंड के 420 अंक हैं. बाकी किसी भी टीम के 400 अंक नहीं है.

अगर इंग्लैंड की टीम अंतिम मुकाबला जीत लेती है तो उसके 472 अंक हो जाएंगे. फिर भी भारतीय टीम अंको के मामले में टॉप पर रहेगी. लेकिन इसके बावजूद वह फाइनल की रेस से बाहर हो जाएगी, क्योंकि औसत अंकों के लिहाज से ऑस्ट्रेलिया की टीम भारत से आगे निकल जाएगी. अगर यह मुकाबला ड्रॉ रहता है तो भारतीय टीम फाइनल में पहुंच जाएगी.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.