hindi

तुर्की का वो रहस्यमयी मंदिर, जहां जो कोई गया वह फिर कभी वापस नहीं आया

0 148

हाल ही में हाजिया सोफिया म्यूजियम को मस्जिद में बदलने के कारण तुर्की सुर्खियों में रहा है। आपको बता दें हैं वैसे यह देश कई और वजह से भी अक्सर चर्चा में रहता है। इन्हीं में से एक है तुर्की का एक मंदिर। जहां जो भी जाता है उसकी मौत हो जाती है। प्राचीन शहर में बने इस मंदिर को नर्क का द्वार भी कहा जाता है। 2 साल पहले इस मंदिर का रहस्य खुल सका है।

एक समय पर तुर्की का हेरापोलिस शहर उन लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र था, जो एडवेंचर पसंद करते थे। देशी-विदेशी सैलानियों का जत्था वहां आकर एक खास मंदिर जाने की हिम्मत जुटाया करता था। जिसके बारे में कहा जाता है कि उसकी छाया तक छूने वाले की मौत हो जाती थी। कहा तो यह भी जाता है कि मंदिर के पास जाने वाले इंसान तो क्या बल्कि पशु-पक्षी भी मौत के घाट उतर जाते थे।

हालांकि इसको प्लूटो का मंदिर भी कहा गया है आपको बता दें मौत के देवता की सांस के कारण मंदिर या उसके आसपास जाने वालों की मौत हो जाती है।
लगातार होती मौतों के कारण आसपास के लोगों ने वहां जाना भी बंद कर दिया था। हालांकि सैलानी वहां जाने की कोशिश करते हैं लेकिन स्थानीय लोगों द्वारा यहां पर जाने को मना कर दिया जाता है।

सैलानी या एक्सपर्ट अगर खोजने के लिए मंदिर जाने की सोचते भी, तो आसपास के लोग उन्हें पिंजरे में कैद पंक्षी दे देते। ताकि वह अपनी आंखों से मंदिर परिसर में उसकी मौत को देख सके ऐसा ही हो पहले होता था। मंदिर में अहाते में रखते ही पक्षी कुछ मिनटों में ही अपना दम तोड़ देता है। इसके साथी भीतर जाने की इच्छा भी मर जाती है। इस तरह से यह मंदिर दिन पर दिन और ज्यादा रहस्य्मयी होता गया हैं।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.