hindi

मां ने किस्तों में चुकाए थे बल्ले के पैसे, अपने हाथों से सिले थे बैटिंग पैड्स, आज ये खिलाड़ी बन चुका है भारत की शान

0 19

भारतीय टीम की नई दीवार कहे जाने वाले चेतेश्वर पुजारा आज अपना 31वां जन्मदिन मना रहे हैं. पुजारा भारतीय टेस्ट टीम की रीड़ की हड्डी बन चुके हैं. पुजारा 81 टेस्ट मैच खेल चुके हैं जिसमें उन्होंने 6111 रन बनाए हैं. इसमें उनके 18 शतक और 28 अर्धशतक भी शामिल है. हाल ही में ऑस्ट्रेलिया में बॉर्डर-गावस्कर सीरीज में मिली ऐतिहासिक जीत में भी पुजारा का अहम योगदान रहा.

भले ही पुजारा ने इस सीरीज में कोई शतक लगाया हो लेकिन उन्होंने 928 गेंद खेलीं. 3 अर्धशतक की मदद से पुजारा ने 271 रन बनाए. पुजारा की बेहतरीन बल्लेबाजी की बदौलत भारतीय टीम सीरीज 2-1 से जीतने में कामयाब हुई. पुजारा के लिए यह मुकाम हासिल करना बहुत ही मुश्किल रहा है. उन्होंने बचपन से कड़ी मेहनत की है. पुजारा की मां ने अपने बेटे को क्रिकेटर बनाने के लिए बहुत बलिदान दिए.

पुजारा को पहला लेदर बॉल बैट उनकी मां ने गिफ्ट में दिया था, जिसकी कीमत उस समय 1500 रुपए थी. बैट के पैसे पुजारा की मां ने किस्तों में चुकाए थे. इतना ही नहीं 8 साल की उम्र में पुजारा को बैटिंग पैड्स फिट नहीं होते थे क्योंकि तब उनका कद छोटा था. इसी वजह से उनकी मां ने उनके लिए अपने हाथों से पैड्स सिले थे. पुजारा की मां अपने बेटे को कभी भारत के लिए खेलते नहीं देख सकी, क्योंकि डेब्यू करने से पहले ही उनकी मां का कैंसर की वजह से निधन हो गया.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.