hindi

IND vs AUS: डेब्यू टेस्ट में चटकाए 3 विकेट और लगाया अर्धशतक, फिर भी वाशिंगटन सुंदर से निराश हैं उनके पिता, वजह है बहुत बड़ी

0 15

वाशिंगटन सुंदर ने अपने डेब्यू टेस्ट मैच में वो मुकाम हासिल किया, जो बहुत कम क्रिकेटर कर पाते हैं. उन्होंने अपने डेब्यू टेस्ट में 144 गेंदों पर 62 रन की पारी खेली और पहली पारी में 3 विकेट भी हासिल किए. हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है, लेकिन दूसरी तरफ उनके पिता एम. सुंदर उनके शतक पूरा ना होने की वजह से निराश हैं.

सुंदर और शार्दुल ठाकुर दोनों ने मिलकर ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध पहली पारी में सातवें विकेट के लिए 123 रन की साझेदारी निभाई. दोनों खिलाड़ियों ने अर्धशतक लगाया. इन दोनों की जोड़ी ऑस्ट्रेलिया में सातवें विकेट के लिए शतकीय साझेदारी करने वाली चौथी भारतीय जोड़ी बनी. पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर रिकी पोंटिंग भी इन दोनों खिलाड़ियों के मुरीद हो गए. लेकिन दूसरी तरफ सुंदर के पिता को लगता है कि उनके बेटे को शतक पूरा करना चाहिए था.

आईएएनएस से बातचीत के दौरान एम. सुंदर ने कहा- मैं निराश हूं कि वह शतक पूरा नहीं कर सका. जब सिराज आए थे तब उसे चौके और छक्के लगाने चाहिए थे. वह यह कर सकता था. उसे पुल करना चाहिए था और बड़े शॉट्स लगाने चाहिए थे और कुछ नहीं तो उसे ऑस्ट्रेलिया के स्कोर की बराबरी करने की कोशिश करनी चाहिए थी.

एम. सुंदर ने यह भी कहा कि रोजाना उनकी अपने बेटे से बात होती है और 1 दिन पहले भी हुई थी और उन्होंने अपने बेटे से कहा था- मौका मिले तो बड़ा स्कोर खेलना. उसने कहा था कि वह जरूर खेलेगा. बता दें कि डेब्यू टेस्ट में अर्धशतक लगाने के साथ तीन या उससे ज्यादा विकेट लेने का कमाल अब तक केवल 2 खिलाड़ी ही कर सके हैं, जिनमें दत्तू फडकर का नाम शामिल था, जिन्होंने पहली बार ऑस्ट्रेलिया दौरा करने वाली भारतीय टीम के लिए यह कमाल किया था.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.