hindi

पहले ही टेस्ट में वाशिंगटन सुंदर और टी नटराजन ने किया वो कमाल, जो 71 साल में नहीं कर पाया कोई

0 3

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच ब्रिसबेन के गाबा में टेस्ट सीरीज का चौथा और अंतिम मुकाबला खेला जा रहा है. इस मुकाबले में पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया की टीम 369 रन पर ढेर हो गई. टी नटराजन और वाशिंगटन सुंदर ने इस मैच के जरिए टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया. पहली पारी में इन दोनों गेंदबाजों ने तीन-तीन विकेट हासिल किए. शार्दुल ठाकुर ने भी तीन बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया.

दूसरे दिन भारतीय टीम ने 58 रन के भीतर ही ऑस्ट्रेलिया के 5 विकेट चटका दिए. 71 साल बाद भारतीय क्रिकेट इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है, जब डेब्यू टेस्ट मैच खेल रहे 2 गेंदबाजों ने तीन-तीन विकेट चटकाए हैं. बता दें कि ऐसा 1949 में हुआ था जब भारतीय टीम के 2 गेंदबाजों ने डेब्यू टेस्ट में 3-3 विकेट लिए थे.

उस समय यह कमाल कोलकाता टेस्ट में वेस्टइंडीज के विरुद्ध खेले गए मैच में मंटू बनर्जी और गुलाम अहमद ने किया था. दोनों ने डेब्यू टेस्ट में 3-3 विकेट लिए थे. बता दें कि टी नटराजन और वाशिंगटन सुंदर को भारतीय टेस्ट टीम में शुरुआत में जगह नहीं मिली थी. इन दोनों गेंदबाजों को नेट्स में गेंदबाजी के लिए ऑस्ट्रेलिया में रोक लिया गया. लेकिन जब उमेश यादव और अश्विन चोटिल हो गए तो इन दोनों खिलाड़ियों को भारतीय टेस्ट टीम में जगह मिल गई.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.