hindi

होटल के कमरे में आते ही रो पड़े थे रविचंद्रन अश्विन, पत्नी ने किया खुलासा

0 14

सिडनी टेस्ट के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा. इस मैच में जो हुआ, उसे शायद ही भारतीय क्रिकेट प्रेमी कभी भुला पाएंगे. भारतीय टीम का हारना तय माना जा रहा था. लेकिन भारतीय खिलाड़ियों ने जिस तरह से मैच को ड्रॉ कराया, उसको कोई नहीं भूल पाएगा. सिडनी टेस्ट ड्रॉ कराने में रविचंद्रन अश्विन का बड़ा योगदान रहा. उन्होंने 128 गेंदों में 39 रन की नाबाद पारी खेली. हनुमा विहारी भी क्रीज पर डटे रहे.

बता दें कि अश्विन के लिए यह मैच काफी मुश्किल रहा, क्योंकि उनकी कमर में असहनीय दर्द हो रहा था. फिर भी वह बल्लेबाजी करते रहे. अश्विन सिडनी टेस्ट के दौरान बहुत ही ज्यादा मुश्किल में थे और मैच को ड्रॉ कराने के बाद वह कितना भावुक हो गए थे, इसका खुलासा उनकी पत्नी ने किया. पृथी अश्विन ने इंडियन एक्सप्रेस में लिखे अपने लेख में बताया कि सिडनी टेस्ट के आखिरी दिन वो मैदान पर नहीं गई और अपने पति को दर्द में खेलते देखना उनके लिए कितना भावुक कर देने वाला ऐहसास है.

पृथी ने यह भी बताया कि जब मैच खत्म होने के बाद होटल के कमरे में आए तो उनकी भावनाएं चरम पर थी. पृथी ने खुलासा किया कि सिडनी टेस्ट के पांचवें दिन उनको कमर में भयानक दर्द हो रहा था. उन्होंने कहा लगता है कि मुझे फिजियो के रूं में जाना पड़ेगा. किस्मत से फिजियो का कमरा हमारे बगल में ही था. वो सीधा खड़े नहीं हो पा रहे थे. मैंने उनसे पूछा कि तुम कैसे बल्लेबाजी करोगे तो उन्होंने जवाब दिया- मुझे नहीं पता. लेकिन मैं कोई हल निकाल लूंगा. मुझे बस मैदान पर जाना है. तभी हमारी बेटियां ने कहा- आज छुट्टी ले लो पापा.

जब अश्विन कमरे से गए तो मुझे लग रहा था कि कुछ घंटों बाद फोन आएगा अश्विन को स्कैन के लिए अस्पताल ले जाया गया है. मैं पांचवें दिन मैदान पर नहीं थी. पृथी अश्विन ने बताया कि जब ड्रॉ होने के बाद वो कमरे में आए तो वह बहुत हंसे और रोए भी. उनकी आंखों में आंसुओं का सैलाब था, लेकिन चेहरे पर खुशी थी. यह एक अलग तरह का एहसास था. वह केवल 2 मिनट के लिए कमरे में रहे और फिर फिजियो के कमरे में चले गए.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.