hindi

कभी बेचता था गोल-गप्पे, मेहनत से बनाई आईपीएल में जगह, अब धूमधाम से करवाई बहन की शादी

0 7

भारत के युवा क्रिकेटर यशस्वी जायसवाल के लिए कल का दिन बेहद ही खुशियों भरा रहा. कल उनकी बहन की शादी थी. यशस्वी जायसवाल का बचपन बेहद ही गरीबी में गुजरा है. वह 11 साल की उम्र में ही उत्तर प्रदेश के भदोही से क्रिकेट खेलने के लिए मुंबई आ गए थे, जहां उन्हें काफी मुश्किलों में रहना पड़ा. यहां आकर उन्होंने एक डेयरी फॉर्म में काम किया.

3 साल तक वह अपने चाचा के साथ छोटे से कमरे में रहे उन्हें कभी-कभी खाली पेट भी सोना पड़ता था. भूख मिटाने को उन्होंने सड़कों पर गोलगप्पे बेचे. लेकिन उन्होंने अपनी मेहनत से आज बड़ा मुकाम हासिल कर लिया है. यशस्वी जायसवाल उस समय सुर्खियों में आए, जब उन्होंने सबसे कम उम्र में वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने का कारनामा किया.

https://www.instagram.com/p/CJlILzHnrsH/?utm_source=ig_web_copy_link

यशस्वी जायसवाल को अंडर 19 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम में चुना गया. इस टूर्नामेंट में उन्होंने 6 मैचों में 1 शतक और 4 अर्धशतकों की मदद से 400 रन बनाए. उन्हें प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया था. यशस्वी जायसवाल को आईपीएल 2020 की नीलामी में राजस्थान रॉयल्स ने 2.4 करोड़ में खरीदा, जबकि उनका बेस प्राइस केवल 20 लाख था. हालांकि आईपीएल 2020 में वह कुछ खास कमाल नहीं कर पाए.

यशस्वी जायसवाल को सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के लिए मुंबई की 22 सदस्य टीम में भी चुना गया है. इस टूर्नामेंट में वह बतौर सलामी बल्लेबाज के रूप में खेलते हुए नजर आ सकते हैं. 19 साल के यशस्वी जायसवाल का लिस्ट ए मैचों में शानदार रिकॉर्ड है. 13 लिस्ट ए मैचों उन्होंने करीब 71 की औसत से 779 रन बनाए हैं. उन्होंने तीन शतक और तीन अर्धशतक जड़ा है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.