hindi

मां बेटे के लिए बना रही थी खाना, तभी अचानक उसने सुनी बेटे की चीख, जब बाहर आकर देखा तो उसका बेटा छत से नीचे गिर गया था और उसका काफी खून बह रहा था, मां ने तुरंत ही

0 22

एक महिला घर में खाना बना रही थी, तभी उसे अचानक अपने बेटे की चीखने की आवाज सुनाई दी। महिला दौड़कर घर से बाहर निकली तो उसने देखा कि उसका बेटा छत से नीचे गिर गया है और खून से लथपथ था। महिला घर में अकेली थी और वह अपने बेटे को हॉस्पिटल लेकर पहुंची। लेकिन वह पूरे रास्ते भगवान को ही कोसती रही कि आखिर उसके बेटे के साथ ही ऐसा क्यों हुआ।

जब महिला हॉस्पिटल पहुंची तो डॉक्टर ने उसके बेटे का इलाज किया और उसका बेटा कुछ दिनों में बिल्कुल स्वस्थ हो गया। लेकिन महिला का भगवान के ऊपर से विश्वास उठ गया। एक दिन फिर उसे ध्यान आया कि जब उसका बेटा घायल हुआ था तो वह बीमार थी।

बीमारी की स्थिति में वह अपने बेटे को उठाकर हॉस्पिटल पहुंची। लेकिन 24-25 किलो के बेटे को उठाकर दौड़ते समय उसे बिल्कुल भी भार महसूस नहीं हो रहा था। इस बात से उसे आश्चर्य हुआ कि वह बीमारी में गए एक बाल्टी पानी भी नहीं उठा पा रही थी, लेकिन वह अपने बेटे को डॉक्टर के पास अपनी ही गोद में उठाकर ले गई।

फिर महिला को यह भी ध्यान आया कि हॉस्पिटल में डॉक्टर तो केवल 2:00 बजे तक रहते हैं। लेकिन उस दिन तो डॉक्टर 4:00 बजे तक भी हॉस्पिटल में थे, जैसे किसी ने उन्हें उसके लिए ही रोका हो। अगर डॉक्टर उस समय ना मिले होते तो उसका बेटा जल्दी ठीक नहीं हो पाता।

फिर महिला समझ गई कि जो कुछ भी हुआ है, सब भगवान की कृपा से हुआ है। लेकिन वह बिना वजह ही भगवान को कोस रही थी, जबकि भगवान ने उसकी हर समय पर मदद की।

कथा की सीख

जो लोग अच्छा काम करते हैं, भगवान की उन पर सदा कृपा रहती है। भगवान हमेशा अपने भक्तों को मुसीबत सहन करने की शक्ति देते हैं और उनको मार्ग भी दिखाते हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.