hindi

जब एक ही दिन में टेस्ट मैच में गिर गए 27 विकेट, 132 साल बाद भी अटूट है ये विश्व रिकॉर्ड

0 55

साल 1988 में क्रिकेट अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने पैरों पर खड़ा होने की कोशिश कर रहा था. इस समय चिर प्रतिद्वंदी इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच लंदन के लॉर्ड्स मैदान एशेज सीरीज का पहला मुकाबला खेला गया. उस समय यह दो ही टीमें थी जो क्रिकेट में बहुत ज्यादा दिलचस्पी रखती थी. दोनों के बीच कड़ी प्रतिद्वंदिता थीं, जिसे एशेज सीरीज का नाम दिया गया.

एशेज सीरीज के 1888 के सीजन में इंग्लैंड दौरे पर ऑस्ट्रेलिया की टीम आई थी. यह तीन टेस्ट मैचों की सीरीज थी. जिसका पहला मैच लॉर्ड्स के मैदान पर 16 जुलाई खेला गया. 17 जुलाई की शाम होने से पहले यह मैच समाप्त भी हो गया. उस दौर में 6 दिन के टेस्ट मैच खेल जाते थे. जिसमें 1 दिन का आराम भी दिया जाता था. लेकिन मैच 2 या 3 दिन में ही खत्म हो जाते थे और बहुत कुछ अलग रहता था.

पहले टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया की टीम ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला किया. इंग्लैंड की टीम ने ऑस्ट्रेलियाई टीम को 116 रनों पर ऑल आउट कर दिया. इंग्लैंड की टीम ने पहले दिन 3 विकेट गिर गए. 17 जुलाई को मैच का दूसरा दिन था. इंग्लैंड की टीम ने बल्लेबाजी शुरू की. लेकिन टीम 53 रनों पर ही ढेर हो गई और ऑस्ट्रेलिया की टीम को 63 रनों की बढ़त मिल गई. ऑस्ट्रेलिया ने आगे बल्लेबाजी की. लेकिन ऑस्ट्रेलिया की टीम 60 रनों पर ही सिमट गई. इंग्लैंड की टीम को जीत के लिए ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 124 रनों का लक्ष्य दिया जाए.

लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड की टीम 70 रनों पर ही ढेर हो गई और ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 61 रनों से मैच जीत लिया. लेकिन सीरीज के बाकी दो मैच इंग्लैंड की टीम ने जीते और सीरीज 2-1 से अपने नाम की. 17 जुलाई 9888 को क्रिकेट के मैदान पर कुछ ऐसा हुआ जो आज तक विश्व रिकॉर्ड है. मैच के दूसरे दिन दोनों टीमों के कुल 27 विकेट गिरे. इंग्लैंड की टीम के 17 और ऑस्ट्रेलिया की टीम के 10 विकेट गिरे थे. आज तक ऐसा कभी नहीं हुआ. 132 सालों के बाद भी यह विश्व रिकॉर्ड कायम है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.