hindi

तिरुपति बालाजी मंदिर से जुड़े इन रहस्यों के बारे में यकीनन आपको नहीं होगी कोई भी जानकारी

0 670

भारत के सबसे अमीर मंदिरों की बात की जाए तो तिरुपति बालाजी मंदिर का नाम सबसे पहले आता है। यही एक ऐसा मंदिर है जहां बड़े बड़े बिजनेसमैन और फिल्मी सितारों रोजाना दर्शन के लिए आते रहते हैं। हर साल लाखों की संख्या में अमीर गरीब सब लोग इनके दर्शन करने आते है। यह मंदिर तिरुमाला की पहाड़ियों पर बना हुआ है और ऐसी मान्यता प्रचलित है कि भगवान अपनी पत्नी पद्मावती के साथ यहां निवास करतें हैं।

इस मंदिर की मान्यता है कि मंदिर में सच्चे मन से जो कोई भी अपनी आशा लेकर जाता है, भगवान उसकी इच्छा पूरी करते है। अपनी इच्छा पूरी होने के बाद भक्त यहां आकर अपने बाल भगवान को अर्पित करते हैं।
लेकिन इनके अलावा भी ऐसे कई के रहस्य है जो आज भी अपने आप मे बहुत बड़े रहस्य है। तो आइए जानते है ऐसे ही कुछ अद्भुत रहस्यों के बारे में….

1. मूर्ति पर लगे हुए हैं बाल

लोगों का मानना है कि इस मंदिर में भगवान वेंकटेश्वर के बाल असली बाल है और यह हमेशा मुलायम रहते है, जो कभी भी उलझते नहीं हैं। ऐसा इसलिए कहा जाता है कि खुद भगवान यहां विराजमान होते हैं।

2. समुद्री लहरों की आवाज

जो कोई भी इस मंदिर में भवन के सामने बैठकर ध्यान से सुनता है तो उसे समुद्र की लहरों को स्पष्ट आवाज सुनाई देती है। यही वजह है कि भगवान की मूर्ति में हर समय नमी बनी रहती है।

3. अद्भुत छड़ी

इस मंदिर के प्रवेशद्वार के दाईं तरफ़ एक छड़ी रखी हुई है। ऐसी मान्यता है कि बाल्यकाल में इसी छड़ी से भगवान की पिटाई भी हुई थी जिस वजह से भगवान की ठुड्डी में भी चोट आई। यही वजह है कि हर शुक्रवार को भगवान की ठुड्डी पर चंदन का लेप लगाया जाता है जिस वजह से भगवान की चोट का घाव भर जाए।

4. हमेशा जलने वाला दिया

इस मंदिर में एक ऐसा चमत्कारिक दिया है जिसमे कभी भी तेल या घी नहीं डाला जाता लेकिन यह दिया हमेशा जलता रहता है। यह अब भी रहस्य बना हुआ है कि इस दिए को सर्वप्रथम कब और किसने प्रज्वलित किया था।

5. मूर्ति मध्‍य में या दाईं ओर

रहस्य की कड़ी में एक रहस्य ऐसा भी जिसमे आप भगवान की मूर्ति की सही स्थिति का पता नहीं लगा सकते। जब आप गर्भ गृह में जाएंगे तो आपको मूर्ति एकदम मध्य में नजर आएगी। लेकिन जैसे ही आप गर्भ गृह सी बाहर आएंगे तो आपकोलगेगा की यह मूर्ति मध्य में ना होकर दाईं तरह है।

6. पचाई कपूर

यह एक ऐसा कपूर है जिसे किसी भी पत्थर पर लगाने से थोड़ी। ही देर में वो पत्थर चटक जाता है। लेकिन भगवान की मूर्ति पर हमेशा यही कपूर लगाया जाता है और मूर्ति आज भी वैसी की वैसी है।

7. हर गुरुवार को चंदन का लेप

मान्यता है ककी बालाजी के हृदय में माँ लक्ष्मी का स्थान है। इसी वजह से हर गुरुवार भगवान का। श्रृंगार उतारकर चंदन का लेप किया जाता है। जैसे ही यह चंदन का लेप हटाया जाता है तो उस समय भगवान के हृदय पर माँ लक्ष्मी की छवि आसानी से स्पष्ट नजर आती है।

8. ऊपर साड़ी और नीचे धोती

भगवान की मूर्ति में साड़ी और धोती का पहनावा होता है। ऐसा इसलिए कि भगवान में माँ लक्ष्मी का रूप भी समाहित है।

9. अनोखा गांव

इस मंदिर से 23 किमी दूर एक ऐसा गांव है जिसमे बाहर। के व्यक्तियों का आना स्पष्ठ मना है। यहां के लोग माफी संयम और नियम से रहते है। भगवान के लिए रोज फल, दूध, दही और घी आदि सब कुछ इसी गांव से आता है।

10. भगवान की मूर्ति को आता है पसीना

भगवान की मूर्ति एक विशेष प्रकार के चिकने पत्थर से बनी है। देखने पर ऐसा लगता है सचमुच भगवा ही यहां विराजमान है। यह मंदिर पूरी तरह से ठंडे वातावरण का है। लेकिन फिर भी भगवान को गर्मी लगती है तो इंसानों की तरह भगवान की मूर्ति से भी पसीना निकलता है।। यह मंदिर पूरी दुनिया का सबसे बड़ा हिन्दू मंदिर है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.