hindi

किसान के खेत में एक नुकीला पत्थर था, जिसके कारण किसान को कई बार चोट लग चुकी थी, इस पत्थर से उसके काफी औजार भी खराब हो गए, वह हमेशा सोचता था कि यह एक चट्टान है और इसे

0 59

एक किसान का थोड़ा सा खेत था. इस खेत में एक नुकीला पत्थर था. इस वजह से कई बार किसान चोटिल हो गया और उसके औजार भी टूट गए. उसे लगता था कि यह बहुत बड़ी चट्टान है, जिसे खेत से नहीं निकाला जा सकता. वह उस पत्थर से बचकर काम करने की कोशिश करता. लेकिन कई बार उस किसान का इस पत्थर की वजह से नुकसान हो जाता.

किसान एक दिन अपने खेत में खेती करने गया. जब वह हल चला रहा था तो पत्थर की वजह से हल की नोंक टूट गई. यह देखकर किसान क्रोधित हो गया. उसने सोचा कि आज मैं इस चट्टान को अपने खेत से निकाल कर ही दम लूंगा. इसके लिए उसने अपने गांव से कई मित्रों को बुलाया.

सभी साथ मिलकर चट्टान निकालने लगे. जैसे ही किसान ने पत्थर पर दो-तीन बार फावड़ा मारा तो वह पत्थर बाहर आ गया. यह देखकर सब हैरान रह गए. मित्रों ने किसान से कहा कि तुम तो कह रहे थे कि यह बहुत बड़ी चट्टान है. लेकिन यह तो छोटा सा पत्थर है. किसान भी यह सोच रहा था कि मैंने इस पत्थर की वजह से कितनी परेशानियां झेली. अगर मैं पहले ही इसे निकाल देता तो मुझे परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता.

कहानी की सीख

इस कहानी से हमें यह सीखने को मिलता है कि कई बार हमारे जीवन में समस्या बहुत छोटी होती है, लेकिन हम उसे बड़ा समझ लेते हैं और उससे बचने की कोशिश करते रहते हैं. इसीलिए हमें समस्या से भागने की जगह उसका डटकर सामना करना चाहिए.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.