hindi

वर्ल्ड कप 2019: ICC ने लगातार उठ रहे सवालों के बाद भी ‘जिंग बेल्स’ को बदलने से किया इनकार

0 111

‘जिंग’ बेल्स को लेकर विवाद चल रहा है। हालांकि आईसीसी ने ‘जिंग’ बेल्स को बदलने से साफ-साफ मना कर दिया है। विश्व कप में अब तक ऐसा कई बार देखने को मिला है कि गेंद स्टंप पर लग जाती है। फिर भी बेल्स नहीं गिरती है। यहां तक कि एलईडी लाइट भी नहीं जलती है।

आईसीसी ने बताया कि टूर्नामेंट के बीच में ‘जिंग’ बेल्स को नहीं बदला जा सकता। हर टीम के लिए 48 मैचों में उपकरण एक जैसे रहेंगे। विश्व कप 2015 से आईसीसी प्रतियोगिताओं में और घरेलू टूर्नामेंट में इनका इस्तेमाल हुआ। अब तक 100 से भी अधिक मैचों में ‘जिंग’ बेल्स का इस्तेमाल किया गया।

विश्व कप 2019 में 5 बार यह देखने को मिला है कि स्टंप पर गेंद लगने के बावजूद भी बेल्स नहीं गिरे, जबकि दो तीन बार एलइडी लाइट भी नहीं जली। आईपीएल 2019 में भी यह घटना कई बार हो चुकी है। हालांकि विश्व कप 2015 में ऐसा एक या दो बार हुआ।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए मुकाबले में जसप्रीत बुमराह की गेंद वॉर्नर के बल्ले से लगकर स्टंप में टकरा गई। बेल्स नहीं गिरे। इसके बाद कहा गया कि बेबेल्‍स के वजन और स्‍टंप्‍स को गहराई में लगाने की वजह से ऐसा हो रहा है।

कोहली ने बताया कि मैं इस बात पर विश्वास करता हूं कि कोई भी टीम यह नहीं चाहेगी कि अच्छी गेंद पर आपको विकेट ना मिले। ऐसा कई बार हुआ है जब गेंद स्टंप से टकराती है। लेकिन एलईडी लाइट नहीं जलती है और ना ही बेल्स गिरती है। मैंने ऐसा पहले बहुत ही कम बार देखा है।

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने भी कहा कि भले ही हमें इसका फायदा हुआ हो। लेकिन यह बहुत ही अनुचित है। मैं जानता हूं कि गेंद काफी तेजी से स्टंप पर जाकर लगी थी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.