Feb 12, 2024, 18:00 IST

टेस्ट क्रिकेट में कोई टीम अगर पारी घोषित करें या हो जाए ऑलआउट, तो कितनी देर का मिलता है ब्रेक? नहीं जानते तो आज जान लीजिए

bbb

टेस्ट क्रिकेट का सबसे पुराना प्रारूप है. विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की शुरुआत के बाद इस प्रारूप की अहमियत और ज्यादा बढ़ गई है. टेस्ट क्रिकेट 5 दिनों तक खेला जाता है. टेस्ट क्रिकेट में ही एक बल्लेबाज और गेंदबाज की असली परीक्षा होती है. यहां गलती करना टीम पर बहुत भारी पड़ जाता है. ऐसे में आपके मन में यह सवाल जरूर उठता होगा कि आखिर 5 दिनों के खेल के दौरान खिलाड़ियों को कितने ब्रेक मिलते हैं. आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि जब कोई टीम ऑल आउट या फिर पारी घोषित करती है तो दूसरी टीम को तैयार होने के लिए कितना समय दिया जाता है. 

टेस्ट मैच की एक पारी में ब्रेक की बात है तो अधिकांश मौकों पर 10 मिनट का ब्रेक दिया जाता है. एनसीसी के 11.2.2 कानून के मुताबिक, पारी के बीच का इंटरवल 10 मिनट का होगा. कुछ पारी के ब्रेक, लंच और टाइम जितने बड़े भी होते हैं. लेकिन ये कप्तान या मैच की स्थिति पर निर्भर करता है. 

अगर आखिरी विकेट गिरे या फिर कप्तान लंच से 10 मिनट बचने से पहले पारी घोषित कर दे, तो ब्रेक को लंच में तब्दील कर दिया जाता है, फिर खिलाड़ियों को 40 मिनट का ब्रेक मिल जाता है. उसके बाद खेल दोबारा शुरू होता है. इसमें लंच और पारी का ब्रेक दोनों शामिल होते हैं. 

अगर आखिरी विकेट गिर जाए और कप्तान टी टाइम से आधे घंटे पहले पारी की घोषणा कर दें, तो पारी का ब्रेक टाइम में तब्दील कर दिया जाता है. इस दौरान खिलाड़ी 20 मिनट के बाद मैदान पर उतरते हैं. 

अगर आखिरी विकेट गिर जाता है या दिन का खेल खत्म होने से 10 मिनट पहले तक कप्तान पारी की घोषणा करता है तो मुकाबला अगले दिन शुरू होता है. 

खेल की रुकावट के दौरान कप्तान पारी की घोषणा करता है तो कोई बदलाव नहीं किया जाता और रुकावट के बाद पारी शुरू हो जाती है. 

यदि 10 मिनट से कम का समय बचा हो और कप्तान पारी घोषित कर दे या पारी को आगे बढ़ाना हो तो अगली पारी 10 मिनट बाद शुरू होती है.

Advertisement